*-हिमालयन हॉस्पिटल ने टेलीमेडिसिन सेवा “हिमसंजीवनी” एप लॉन्च किया*
डोईवाला,21 मई। गुणवत्तापरक स्वास्थ्य सेवा देने को प्रतिबद्ध हिमालयन हॉस्पिटल के इतिहास में कामयाबी का एक नया अध्याय जुड़ गया है। स्वामी राम हिमालयन विश्वविद्यालय (एसआरएचयू) के कुलपति डॉ.विजय धस्माना ने ‘हिमसंजीवनी” एप लॉन्च किया। इससे दुनिया में कहीं से भी मरीज घर बैठे हिमालयन हॉस्पिटल के चिकित्सकों से टेली कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से स्वास्थ्य परामर्श ले सकेंगे।
कुलपति डॉ.विजय धस्माना ने कहा कि दूरस्थ क्षेत्र में रोगियों को अंतर्राष्ट्रीय स्तर की स्वास्थ्य सुविधा मिल सके इसी उद्देश्य से हिमालयन हॉस्पिटल की स्थापना की गई। मॉक्सी के सहयोग से हिमालयन हॉस्पिटल ने टेलीमेडिसिन सेवा का आज शुभारंभ किया। इस सेवा के इस्तेमाल के लिए हिमसंजीवनी एप को डाउनलॉड करना पड़ेगा। टेलीमेडिसिन सेवा की टैगलाइन ‘हिमालय हॉस्पिटल आपके द्वार’ से ही साफ हो जाता है कि इसके माध्यम से दुनिया में कहीं से भी रोगी घर बैठे हिमालयन हॉस्पिटल के विशेषज्ञ डॉक्टरों से स्वास्थ्य परामर्श ले सकते हैं। कुलपति डॉ.विजय धस्माना ने कहा कि कोरोना संकटकाल में हिमसंजीवनी टेलीमेडिसिन स्वास्थ्य सेवा प्रदेश व प्रदेशभर से बाहर के रोगियों के लिए मील का पत्थर साबित होगी।
*शुरुआत में जनरल फिजिशियन, हृदय रोग, बाल रोग, न्यूरोलॉजी, नेत्र रोग व कैंसर रोगियों के लिए सेवा*
कुलपति डॉ.विजय धस्माना ने बताया कि टेलीमेडिसिन सेवा के माध्यम से शुरुआत में जनरल फिजिशियन, हृदय रोग, बाल रोग, न्यूरोलॉजी, नेत्र रोग व कैंसर रोग से संबंधित रोगी इसका लाभ ले सकते हैं। धीरे-धीरे टेलीमेडिसिन सेवा का विस्तार किया जाएगा ताकि रोगियों को अन्य विभागों के चिकित्सकों की सेवा भी मिल सके। इस सेवा के लिए हॉस्पिटल के पास प्रशिक्षित स्टाफ है।
*एक एप, कई लाभ*
कुलपति डॉ.विजय धस्माना ने बताया कि टेलीमेडिसिन सेवा से रोगियों को कई लाभ होने वाले हैं। इसके इस्तेमाल से रोगियों का हॉस्पिटल आवाजाही का खर्चा बचेगा। इसके साथ ही समय की भी बचत होगी। समय पर त्वरित उपचार शुरू हो पाएगा। उनकी मेडिकल रिपोर्ट भी आवाजाही के दौरान खोने का भय नहीं रहेगा। रिपोर्ट अपलोड होने पर वो हमेशा के लिए सुरक्षित भी रहेंगी।

*हरिद्वार, मसूरी, कोटद्वार में भी टेलीमेडिसिन सेंटर सेवा जल्द*
कुलपति डॉ.विजय धस्माना ने कहा कि हिमालयन हॉस्पिटल की ओर से शीघ्र टेलीमेडिसिन सेवा का विस्तार किया जाएगा। कुछ समय के बाद हॉस्पिटल की इमरजेंसी में भी यह सेवा देना प्रारंभ करेंगे। शीघ्र ही हरिद्वार, मसूरी व कोटद्वार में भी हिमालयन हॉस्पिटल की ओर से टेलीमेडिसिन सेंटर खोले जाएंगे। डॉ.धस्माना ने बताया बीते वर्ष से संस्थापक डॉ.स्वामी राम के पैतृक गांव तोली, पौड़ी में बीते साल से टेलीमेडिसिन सेंटर काम कर रहा है। इससे हजारों रोगियों ने घर बैठे ही स्वास्थ्य परामर्श लिया।
*“हिमसंजीवनी” एप कैसे डाउन लाउड करें*
“हिमसंजीवनी” एप के इस्तेमाल की प्रक्रिया बेहद ही आसान है। जिन लोगों के पास एंड्रायड वर्जन के फोन हैं वो गूगल प्ले स्टोर से एप डाउनलोड कर सकते हैं। इसक अलावा जिन लोगों के पास आई फोन है वो सफारी ब्राउजर से इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। वेब ब्राउजर के माध्यम से www.himsanjeevani.com पर लॉग इन कर इस स्वास्थ्य सेवा का लाभ घर बैठे भी उठा सकते हैं। किसी भी तरह की समस्या होने पर 0135-2471110, 200, 300 पर कॉल करके अधिक जानकारी हासिल कर सकते हैं।

Post A Comment: