ऋषिकेश, 22 मई ।अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सदस्य जयेन्द्र रमोला ने कहा कि जहॉं एक ओर देश के प्रधानमंत्री गॉंवों को कोरोना बचाने के लिये प्रदेश सरकारों पर ज़ोर डाल रहे हैं वहीं दूसरी ओर ऋषिकेश विधानसभा के अन्तर्गत आने वाली ग्रामसभाऐं सरकार की ओर से आने वाली मदद की राह ताक रहे हैं। परन्तु यहॉं पर सरकारी तौर पर महज खाना पूर्ती हो रही है। स्थानीय जनप्रतिनिधी व समाजसेवी अपने संसाधनों से गाँव क्षेत्रों में सेनिटाइजर छिड़काव,मास्क,साबुन,राशन,भोजन व हैण्ड सेनिटाइजर के साथ साथ डेंगू से बचाव के लिये दवा की फोगिंग करवा रहे हैं, और जो सरकार से थोड़ा बहुत राशन आ रहा है उसको सरकार के ज़िम्मेदार लोग कुछ लोगों में बँटवाकर अपनी फ़ोटो खिंचवाकर इतिश्री कर रहे हैं ।
वहीं दूसरी ओर ऋषिकेश क्षेत्र की ग्रामसभा गौहरी मॉफी में प्रवासियों को कोरंटाइन करने के लिये तिब्बती स्कूल में सेन्टर बनवाया गया है..रमोला का कहना है कि वहॉं पर कोरंटीन हुऐ प्रवासी से जानकारी मिली कि वहॉं पर उनके स्वास्थ्य परीक्षण के लिये कई दिनों से ना कोई डाक्टर गया ना ही देखरेख के लिये कोई सरकारी कर्मचारी है, उनके परिवार के लोग ही देखरेख कर खाना पहुँचा रहे हैं, ये किस तरह का कोरंटीन है जहॉं पर केवल परिवार वाले व गाँव वाले वहॉं पर अपने प्रयासों से व्यवस्था देख रहे है ।
लापरवाही देखिये नेता रोज़ वहॉं पर जाकर फ़ोटो खिंचवा कर अधिकारियों को निर्देशित रहे हैं। परन्तु वहॉं पर ना कोई ज़िम्मेदार अधिकारी जाता है नाही कोई स्वास्थ्य कर्मचारी जाता है ।
मेरी सरकार के ज़िम्मेदार लोगों से निवेदन है कि सबसे पहले प्रवासियों का स्वास्थ्य परीक्षण होना चाहिये। क्योंकि वह अलग अलग जगह से लोग आये हैं। अगर एक का भी स्वास्थ्य गड़बड़ हुआ तो औरों को भी परेशानी का सामना करना पड़ेगा इसलिये मेरा माननीयो से आग्रह है कि ये वैश्विक आपदा है इसमें फ़ोटो सेशन ना करवाकर धरातल पर कार्य करने की आवश्यकता है । कृपया सबसे पहले उन सभी का स्वास्थ्य परीक्षण अवश्य करवायें ताकि हमारे गाँव व शहर सुरक्षित रहे ।

Post A Comment: