देहरादून,19 मई। महंत इंद्रेश अस्पताल में 15 वर्षीय किशोर की इलाज के दौरान मौत हो गई. इसके बाद परिजनों ने अस्पताल में जमकर हंगामा किया। परिजनों ने अस्पताल पर आरोप लगाया कि डॉक्टरों की लापरवाही के कारण किशोर की मौत हुई है। मिली जानकारी के अनुसार धामावाला बाजार निवासी प्रवीण कुकरेजा का 15 वर्षीय बेटा केतन बीमार हो गया था। गंभीर हालत में उसे शुक्रवार को महंत इंद्रेश अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। सोमवार को इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। उससे गुस्साए परिजनों ने अस्पताल पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा किया। अस्पताल के वरिष्ठ जनसंपर्क अधिकारी भूपेंद्र रतूड़ी के अनुसार किशोर के माता-पिता ने डॉक्टरों को बताया था कि बीमारी के कारण बच्चे का वजन 45 किलो से घटकर 25 किलो रह गया है। जबकि, किशोर का शरीर बीमारी की वजह से पूरी तरह से सूख चुका था। अस्पताल लाए जाने के दौरान बच्चे की हालत बेहद नाजुक और चिंताजनक थी। ऐसे में प्रारंभिक जांच रिपोर्ट में कैंसर के लक्षण दिखाई दिए और पूरे शरीर में ट्यूबरक्लोसिस फैलने की आशंका भी लगी। कैंसर और अन्य बीमारी के कारणों को जानने के लिए डॉक्टरों ने परिजनों को कुछ अन्य जांचें कराने की सलाह दी। लेकिन सोमवार को किशोर का ब्लड प्रेशर अनियंत्रित हो गया और मौत हो गई। आरोप है कि भीड़ में शामिल लोगों ने डॉक्टरों के साथ अभद्रता कर दी। अस्पताल प्रशासन ने थाना पटेलनगर को लिखित शिकायत भेज दी है। अस्पताल प्रबंधन के मुताबिक पोस्टमॉर्टम के बाद ही किशोर की मौत के असली कारणों का पता लग पाएगा। फिलहाल सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पुलिस कानूनी कार्रवाई करेगी। ऐसा पुूलिस का कहना है।.

Post A Comment: