पौड़ी। जिले में सोमवार को क्वारंटीन सेंटर में एक युवक की मौत हो गई। बताया गया कि युवक लंबे समय से छाती संबंधी रोग से पीड़ित था।
बताया जा रहा है कि वह युवक बिरगणा गांव का रहने वाला है और रविवार देर रात 12 बजे क्वारंटीन सेंटर में भेजा गया था। युवक फरीदाबार से लौटा था। सोमवार सुबह जब उसकी तबीयत खराब हुई तो उसे एंबुलेंस से प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बैजरों लाया गया। यहां युवक की मौत हो गई।
सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बीरोंखाल के डॉ. शैलेंद्र रावत का कहना है कि मृतक की केस हिस्ट्री से पता चला है कि युवक लंबे समय से छाती के रोग से पीड़ित था। इससे पहले रविवार को भी कोटद्वार में क्वारंटीन के दौरान एक बुजुर्ग महिला की मौत अस्थमा का अटैक पड़ने से हुई थी।
उत्तराखंड के कोटद्वार में रिखणीखाल विकासखंड के एक गांव में दिल्ली से लौटी एक बुजुर्ग महिला की क्वारंटीन के दौरान मौत हो गई थी। जानकारी के अनुसार, 77 वर्षीय महिला दिल्ली के बुराड़ी से परिवार के साथ कुछ दिन पहले ही उत्तराखंड आई थी।
दिल्ली से आने के कारण महिला को जूनियर हाईस्कूल में बने वार्ड में क्वारंटीन किया गया था। बताया जा रहा है कि शनिवार देर शाम तक महिला बिल्कुल ठीक थी। प्रभारी चिकित्साधिकारी रिखणीखाल डॉ. राशिद खान ने बताया कि अस्थमा का अटैक पड़ने से उनकी मौत हुई है।
परिजनों के पोस्टमार्टम नहीं कराने के आग्रह पर उनका शव परिजनों का सौंप दिया गया। तहसीलदार सोहन सिंह असवाल ने बताया कि दिल्ली से कोटद्वार आते वक्त कोटद्वार में सभी लोगों की थर्मल स्क्रीनिंग कराई गई थी, जिसमें सभी का स्वास्थ्य सामान्य था।

Post A Comment: