ऋषिकेश 16 मई।विधानसभा अध्यक्ष  प्रेमचंद अग्रवाल के ऋषिकेश स्थित निजी आवास पर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत ने भेंट वार्ता की।इस दौरान दोनों ही नेताओं के बीच प्रदेश में कोरोना संक्रमण को लेकर राहत बचाव कार्यों एवं अन्य विषयों पर विस्तृत में चर्चा वार्ता हुई।

इस अवसर पर प्रदेश अध्यक्ष व कालाढुंगी से विधायक बंशीधर भगत ने 1 वर्ष तक के लिए अपने वेतन का 30% प्रतिमाह मुख्यमंत्री राहत कोष में प्रदान करने के लिए विधानसभा सचिवालय को अपनी सहमति जताते हुए अपना सहमति पत्र विधानसभा अध्यक्ष को सौंपा।
गौरतलब है कि मंत्रिमंडल द्वारा “उत्तराखंड राज्य (विधानसभा सदस्यों की उपलब्धियां और पेंशन) अधिनियम 2008 “ की धारा 24 में उल्लेखित प्रावधान के अनुसार प्रत्येक विधानसभा सदस्य को 1 वर्ष तक के लिए अपने वेतन का 30% मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए प्रदान करने का निर्णय लिया गया था।इस संबंध में विधानसभा अध्यक्ष द्वारा  विधानसभा सचिवालय की ओर से सभी विधायकों को अपनी सहमति देने के लिए कहा गया था।इस अवसर पर प्रदेश अध्यक्ष ने विधानसभा अध्यक्ष को अवगत कराया कि उनके द्वारा भी सभी विधायकों को अपने वेतन का 30% राशि राहत कोष में त्याग किए जाने के लिए अपनी सहमति विधानसभा सचिवालय को दिये जाने के लिए अपील की गयी। दोनों ही नेताओं के बीच राज्य में कोरोना संक्रमण से उपजे हालात एवं राहत बचाव कार्यों के संबंध में चर्चा की गई।साथ ही  प्रवासियों के उत्तराखंड वापस आने एवं उनको रोजगार एवं अन्य सुविधाएं मुहैया कराने के संबंध में भी बातचीत हुई जिससे कि प्रवासियों का भविष्य में पलायन रोका जा सके।

Post A Comment: