देहरादून, 17 मई । कोटद्वार में रिखणीखाल विकासखंड के एक गांव में दिल्ली से आई एक महिला की क्वारंटीन के दौरान मौत हो गई। सूचना मिलते ही स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया। इस मामले के बाद स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह से अलर्ट हो गया है।
मिली जानकारी के अनुसार, 77 वर्षीय महिला दिल्ली के बुराड़ी से बहू के साथ कुछ दिन पहले ही उत्तराखंड आई थी। दिल्ली से आने के कारण महिला को जूनियर हाईस्कूल में बने वार्ड में क्वारंटीन किया गया था। बताया जा रहा है कि शनिवार देर शाम तक महिला बिल्कुल ठीक थी।
लेकिन रात में उसकी अचानक तबीयत बिगड़ी और महिला को खून की उल्टियां होने लगी। वहीं, मौके पर ही महिला की मौत हो गई। एसडीएम ने बताया कि डॉक्टरों की टीम क्वारंटीन सेंटर पहुंच गई है। मामले की जांच की जा रही है। वहीं, महिला की मौत के बाद से क्षेत्र में भय का माहौल बना हुआ है।
उत्तराखंड में बाहरी राज्यों से लौट रहे प्रवासियों के कारण अब विभाग ने सैंपलिंग बढ़ा दी है। अभी तक प्रदेश के चारों सरकारी लैब में व्यक्तिगत सैंपल की जांच की जा रही है।
अपर सचिव स्वास्थ्य युगल किशोर पंत ने बताया कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण का पहला मामला 15 मार्च को मिला था। शुरूआत में प्रदेश में लैब की सुविधा न होने के कारण एक सप्ताह में पूरे प्रदेश से मात्र 110 सैंपल की जांच हुई थी। वर्तमान में प्रदेश में एम्स ऋषिकेश के अलावा तीन मेडिकल कॉलेज दूनए हल्द्वानी और श्रीनगर में कोरोना सैंपल जांच की सुविधा है। लॉकडाउन में रियायत मिलने के बाद बाहरी राज्यों से हजारों की संख्या में प्रवासियों के लौटने से संक्रमण के मामले भी बढ़ गए हैं।  कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए सैंपलिंग बढ़ाई गई है। पूरे प्रदेश से प्रतिदिन एक हजार सैंपल होने पर लैब स्वयं ही पूलिंग सैंपल टेस्टिंग करेंगे।

Post A Comment: