देहरादून। उत्तराखंड डीजीपी के निर्देश के बाद पूर्व में जमात में गए लोग खुद सामने आ रहे हैं। रुद्रपुर में एसपी सिटी देवेंद्र पिंचा ने बताया कि अब तक जिले में  15 जमाती खुद निकलकर आए हैं। इन सभी का मेडिकल करवा कर क्वारंटीन किया जा रहा है। पुलिस महानिदेशक ने चेतावनी जारी की है कि छिपे हुए जमातियों के पास सोमवार को पुलिस के सामने आने का आखिरी मौका है। यदि उसके बाद कोई पकड़ा जाता है तो उस पर हत्या के प्रयास का मुकदमा दर्ज किया जाएगा।
हल्द्वानी में रविवार को मिले कोरोना संक्रमित जमाती के नौ साथियों को आज पुलिस ने क्वांरटीन कर दिया है। इनकी मेडिकल जांच की जा रही है।
  देहरादून में दिल्ली हजरत निजामुद्दीन मरकज के चार जमाती देहरादून आए थे। जिनमें से दो पॉजिटिव आए हैं। इन चारों को क्वारंटीन किया गया है। बताया गया कि उक्त चार जमाती 10 मार्च से 20 मार्च तक देहरादून स्थित अपने घर पर रहे। 20 मार्च को देहरादून में 64 लोगों से मुलाकात की और उत्तराखंड से चले गए। अब इन सभी 64 लोगों को होम क्वारंटीन जा रहा है। इसके साथ ही इनसे यह जानकारी ली जा रही है कि इस दौरान ये किस-किस के संपर्क में आए। इनकी मेडिकल जांच भी की जाएगी। अगर किसी की रिपोर्ट पॉजिटिव आई तो उसे आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया जाएगा।   रुड़की के पनियाला गांव में एक कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद गांव को पूरी तरह सील कर दिया गया है। इस गांव की आबादी 14 हजार है। वहीं मंगलौर क्षेत्र के मलकपुर को भी सील कर दिया गया है। यहां की आबादी तीन हजार है। उक्त युवक अपने भाई की कार में पनियाला गांव आया था। जो मलकपुर में रहता है, इस वजह से इसे भी सील कर दिया गया है।

Post A Comment: