देहरादून। कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए किए गए लॉकडाउन का असर सीधा फलों और सब्जियों के बाजार पर पड़ रहा है। जैसे-जैसे कोरोना के केस बढ़ रहे हैं। बाजार में ग्राहक कम हो रहे हैं और इसकी वजह से थोक मंडियों में फल और सब्जियां सड़ने लगे हैं। इसका एक और असर यह पड़ा है कि थोक बाजार से रिटेल तक आते-आते तक फलों और सब्जियों के दाम दोगुने हो जा रहे हैं। विरोधाभास देखिए कि एक ओर सब्जियां-फल सड़ रहे हैं और दूसरी ओर दोगुने दामों में बिक रहे हैं। देहरादून की सब्जी मंडी में फलों के दाम रिटेल में बिकने वाले फलों से काफी कम हैं। सब्जी मंडी में अंगूर 30 से 35 रुपये किलो, संतरा 30 रुपये किलो, सेब 50 से 80 रुपये किलो और केला 30 रुपये दर्जन बिक रहा है, लेकिन रिटेल में यह सब दोगुने दामों पर बिक रहे हैं। मंडियों में ग्राहकों के इंतजार में दुकानदारों की आंखें रास्तों पर लगी हुई हैं। सोशल डिस्टेंसिंग की बातें ग्राहकों के इंतजार में हवा में उड़ जा रही हैं। ग्राहक न होने की वजह से मंडी में व्यापारी औने-पौने दामों पर सब्जियां बेचने पर मजबूर हो रहे हैं। मंडी में छंटी हुई सड़ रही सब्जियों के ढेर लग रहे हैं। भले ही इनसे कोरोना न हो लेकिन दूसरी बीमारियां हो सकती हैं।

Post A Comment: