ऋषिकेश, 20 अप्रैल। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पिता ने सोमवार को दिल्ली एम्स में आखिरी सांस ली। आज सुबह दस बजकर 44 मिनट पर आनंद सिंह बिष्ट का स्वर्गवास हो गया।  वह विगत 13 मार्च से अस्पताल में भर्ती थे। उनके किडनी और लीवर में समस्या थी। जिसकी वजह से उन्हें लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया था। आनंद सिंह बिष्ट के निधन की खबर से उत्तराखंड सहित यूपी में शोक की लहर है। योगी आदित्यनाथ के पिता अपने परिवार के साथ उत्तराखंड में यमकेश्वर के पंचूर गांव में रहते थे। वे फॉरेस्ट रेंजर के पद से 1991 में रिटायर हो गए थे।  योगी आदित्यनाथ बचपन में ही अपना परिवार छोड़कर गोरखपुर महंत अवेद्यनाथ के पास चले आए थे।
उनका अंतिम संस्कार गांव में पैतृक घाट पर ही किया जाएगा। रविवार देर रात उनकी तबीयत को लेकर सोशल मीडिया पर अफवाह फैलने लगीं थी।
आनंद सिंह बिष्ट ने अपने पुत्र योगी आदित्यनाथ के लिए एक सपना देखा था जो उनके जीवन काल में पूरा न हो सका।एक पत्रकार वार्ता के दौरान आनंद सिंह बिष्ट ने कहा था कि योगी एक दिन देश के प्रधानमंत्री बनेंगे। उन्होंने कहा था कि योगी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के काम करने के तरीके में काफी समानता है। मेरा यह सपना एक दिन जरूर पूरा होगा। योगी आदित्यनाथ के पिता स्वर्गीय आनंद सिंह बिष्ट अपने पीछे भरा पूरा परिवार छोड़ गए जिनमें चार लड़के और 3 लड़कियां धर्मपत्नी शामिल है! स्वर्गीय आनंद सिंह बिष्ट के बड़े लड़के मानेन्दर विष्ट, शैलेंद्र मोहन बिष्ट, यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, सबसे छोटे बेटा महेंद्र बिष्ट उनकी धर्मपत्नी सावित्री देवी परिवारजनों ने बताया कि  स्वर्गीय आनंद सिंह बिष्ट का अंतिम संस्कार फूल चट्टी या उनके पैतृक घाट चंडी घाट मैं अंतिम संस्कार  किया जाएगा!

Post A Comment: