उत्तरकाशी,24 अप्रैल। जनपद के चिन्यालीसौड़ ब्लॉक में 47 लोगों के खिलाफ क्वारंटाइन उल्लंघन मामले में मुकदमा दर्ज करने वाले कोविड मजिस्ट्रेट को डीएम डॉ. आशीष चैहान ने निलंबित कर दिया है। कोविड मजिस्ट्रेट गिरीश सिंह राणा ने मामले में 3 मासूमों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था। बताया जा रहा है कि कोविड मजिस्ट्रेट ने स्वयं मौके पर न जाकर ग्राम प्रधान से जानकारी के आधार पर ही मुकदमा दर्ज करवा दिया था। इसका संज्ञान लेते हुए जिलाधिकारी आशीष चैहान ने उसके निलंबन के आदेश दिये.होम क्वारंटाइन के नियमों का सही तरीके से पालन करवाने के लिए चिन्यालीसौड़ ब्लॉक में भी अलग-अलग कोविड मजिस्ट्रेट बनाए गए हैं। तीन दिन पहले चिन्यालीसौड़ ब्लॉक के कोविड मजिस्ट्रेट सहायक अभियंता सिंचाई विभाग ने राजस्व विभाग को एक रिपोर्ट सौंपी थी। रिपोर्ट में बताया गया कि माड़ खालसी गांव में 47 लोगों ने होम क्वारंटाइन का उल्लंघन किया है। इस पर राजस्व विभाग ने मुकदमा दर्ज कर दिया. पंचकूला हरियाणा से वापस अपने मां पिता के साथ घर लौटी 3 वर्षीय बच्ची और 6 महीने के मासूम पर भी मुकदमा दर्ज किया गया था। इन 47 लोगों में माड़ खालसी की 3 वर्षीय बच्ची और 6 माह के मासूम पर भी मुकदमा दर्ज किया गया था। इस रिपोर्ट को गंभीरता से लेते हुए डीएम डॉ आशीष चैहान ने मामले की जांच की तो पता चला कि कोविड मजिस्ट्रेट ने ग्राम प्रधान से ही जानकारी के आधार पर ये रिपोर्ट बनाई थी। डीएम ने कोविड मजिस्ट्रेट की गलती पर उसे निलंबित कर दिया है। डीएम ने बताया कि मामले के सभी पक्षों की जांच के लिए जांच अधिकारी नियुक्त कर जांच करवाई जा रही है, जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Post A Comment: