ऋषिकेश,07मार्च(  AKA) ऋषिकेश कोतवाली पुलिस ने एक नाबालिक लड़की को भगाने के आरोप में दो लोगों को गिरफ्तार कर, अपहरण की गई लड़की को उसके परिजनों को सकुशल सौंप दिया है। शनिवार को कोतवाली प्रभारी रितेश शाह के अनुसार कोतवाली ऋषिकेश में एक  महिला  के द्वारा एक तहरीर देते हुए कहा था कि उसकी नाबालिग पुत्री उम्र 16 वर्ष, 1 फरवरी 2020 को घर से बिना बताए कहीं चली गई थी। जिसको पुलिस द्वारा 8 फरवरी 2020 को बरामद कर लिया गया था। परंतु कुछ दिन घर में रहने के पश्चात वह पुनः घर से बिना बताए कहीं चली गई थी ।शिकायतकर्ता की शिकायत पर कोतवाली ऋषिकेश में तत्काल मुकदमा धारा 363/366/120 बी आईपीसी व पोक्सो अधिनियम के अंतर्गत मुकदमा पंजीकृत कर विवेचना की गई थी।जिसमेंअपह्रता के पुराने दोस्तों से पूछताछ की गई, व मोबाइल को सर्विलांस पर लगाकर पुलिस को सक्रिय किया गया। जिसके बाद चंडी घाट चौक हरिद्वार के पास से अपहृता को सकुशल बरामद कर, दो (2) अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया है। जिनके नाम रितिक बोध पुत्र  सुशील बोध निवासी श्यामपुर फाटक के पास ऋषिकेश,व विनोद चौहान पुत्र जवाहर चौहान निवासी मकान नंबर 138 आजाद नगर, थाना बलौंगी, जिला महोली पंजाब बताया गया पकड़े गए दोनों अभियुक्तों ने बताया कि वह अपराधिक षड्यंत्र रच कर नाबालिक लड़की को शादी करने की नियत से बहला-फुसलाकर ले  गये अतः उक्त मुकदमे में धारा 120b/366 आईपीसी की बढ़ोतरी की गई है।

Post A Comment: