सर्व शिक्षा,समग्र शिक्षा के तहत राज्य से बाहर शैक्षिक भ्रमण के लिए जनपद पौड़ी उत्तराखंड के विकास क्षेत्र थैलीसैंण बीरोखाल,नैनीडांडा,पोखड़ा एवं एकेश्वर के सरकारी विद्यालओं में अध्ययनरत लगभग 124 छात्र स्कूली शिक्षकों के साथ समाजा सेवा के लिए नयी मिशाल बन चुके हंस फाउंडेशन के प्रगांण में दिल्ली पहुंचे।
चार दिन के दिल्ली भ्रमण पर आए इन स्कूल छात्रों ने हंस फाउंडेशन के प्रगाण शिक्षा के क्षेत्र में नयी उपलब्धियों को छूने और बेहतर शिक्षा के लिए ज्ञान प्राप्त करने के साथ-साथ भारत के धार्मिक महत्व को भी समझा।
हंस फाउंडेशन के दिल्ली प्रगाण में पहुंचे विकासखंड पोखड़ा के इन छात्रों ने पहाड़ की माटी से निकलकर,शहर के जीवन के अनुभवों को करीब से देखा। ऐसे अनुभव जो इस उम्र में जीवन को परिवर्तन के मार्ग पर लेकर जाते है। श्री भोले महाराज एवं माताश्री मंगला ने आशीष से हंस फाउंडेशन के प्रगाण में आए  इन बच्चों ने शिक्षा के प्रति गंभीरता से ध्यान देने के साथ-साथ अपने जीवन से जुड़े अनुभवों को धार्मिक पटल पर देख प्रफुलित हुए।
माताश्री मंगला ने हंस फाउंडेशन के प्रगाण में आए इन बच्चों के प्रेषित अपने संदेश में कहा कि सदमार्ग पर चलते हुए,जीवन में कामयाबी हासिल करने के लिए नशे जैसी बुरी आदतों से बचने की आज बहुत आवश्यकता है। माता मंगला  कहा कि आज के बच्चे देश-दुनिया से जुड़ी हर घटना को देखते-समझते है। इस लिए उन्हें अच्छाई-बुराई का ज्ञान भी अच्छी तरह है। जो बच्चे इस ज्ञान के मार्ग पर चलते है वह बच्चे अच्छी आदतें,अच्छी विचारधारा और अच्छे संस्कारों के साथ आगे बढ़ अपने जीवन में सफलता की मंजिल तक पहुंचते है।
श्री भोले महाराज एवं माता मंगला की प्रेरणा एवं हंस फाउंडेशन के सहयोग से सर्व शिक्षा-समग्र शिक्षा के तहत राज्य से बाहर शैक्षिक भ्रमण पर हंस फाउंडेशन दिल्ली पहुंचे विकासखंड पोखड़ा के स्कूल के 124 छात्रा एवं शिक्षक हंस फाउंडेशन के प्रगाण से शिक्षा की नयी विचारधार पाकर प्रफुलित होकर गुरूवार को उत्तराखंड लौटे।

Post A Comment: