ऋषिकेश,22फरवरी (AKA)। ऋषिकेश नगर निगम  व मुनिकी रेती नगर पालिका क्षेत्र मे  नगर पालिका क्षेत्र में घरों के सीवरेज की सुरक्षा प्रबंधन को लेकर किए गए सर्वे के बाद आयोजित जीआईजेड एन एस जी आर की बैठक में अधिकारियों द्वारा समीक्षा की गई ।शनिवार को नगर निगम ऋषिकेश के सभागार में नगर निगम आयुक्त नरेंद्र सिंह क्विरियाल की अध्यक्षता मे आयोजित बैठक में  बताया गया, कि ऋषिकेश के क्षेत्र में कुल 12 463 संपत्तियां हैं ।जिसमें 11279 सीवर के कनेक्शन से जुड़ी है। उसके बावजूद  9549 सेफ्टी टैंक  है  जिसमें  बैराज कॉलोनी मैं अभी भी सीवरेज की व्यवस्था ना होने के कारण सेफ्टी टैंक बने हैं। जिन्हें सीवरेज से  जोड़ने के लिए विभागीय नोटिस दिए जाने की बात भी कही गई है ।इसी के साथ यह भी कहा गया है ,कि वहां बने सेफ्टी टैंको को साफ करने के लिए वाहन की व्यवस्था की जाए, और उन्हें सीवरेज कनेक्शन के लिए प्रेरित किया जाए। बैठक में नगर क्षेत्र की सीवरेज व्यवस्था पर भी गंभीरता पूर्वक विचार करते हुए शीघ्र छूटे हुए घरों को भी जोड़े जाने की बात कही गई है । बैठक मेंं शास्त्र कंसलटिंग ट्रेनिंग के सलाहकार संतोष पंत ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के  नमामी गंगे प्रोजेक्ट के अंतर्गत  सभी शहरों को  सीवरेज से जोड़कर  गंगा को प्रदूषण मुक्त बनाया जाना है । इसी के चलते ऋषिकेश में भी सीवरेज को लेकर सर्वे किया गया है जिसके परिणाम  कुछ ही महीनों में  सामने आने लगेंगे । बैठक में निगम ऋषिकेश के नगर आयुक्त नरेंद्र सिंह क्विरियाल, ले जा मैरी एडवाइजर जीआईजेड, संदीप कश्यप प्रोजेक्ट मैनेजर जल निगम ,विनोद लाल शाह नगर निगम ऋषिकेश के सहायक आयुक्त, हरीश बंसल सहायक अभियंता उत्तराखंड जल संस्थान, सचिन रावत  नगर निगम ऋषिकेश ,जेएस गुलजार प्रोजेक्ट इंजीनियर ,राकेश चौहान एफ बी ए एम,  बीपी भट्ट अधिशासी अधिकारी नगर पालिका मुनी की रेती ,धीरेंद्र  सेनेटरी इंस्पेक्टर ऋषिकेश ,आशीष मल्होत्रा सेनेटरी इस्पेक्टर ऋषिकेश, दीपक कुमार नगरपालिका मुनिकीरेती भी उपस्थित थे।

Post A Comment: