धरना दे रहे दलित शोषित मंच के कार्यकर्ताओं को महापौर  ने सुनाई खरी खरी


ऋषिकेश, 19 फरवरी। देश के संविधान निर्माता बाबा साहेब की मूर्ति के सौन्दर्यीकरण में हुई राजनीति के बीच नगर निगम महापौर ने मूर्ति का प्रस्तावित निर्माण कार्य आज शुरु करा दिया। इस दौरान मौके पर धरना दे रहे उत्तराखंड दलित शोषित मंच के कार्यकर्ताओं से नगर निगम महापौर अनिता ममगाई की तीखी नोकझोंक भी हो गई।
बुधवार को नगर निगम द्वारा संविधान रचियता बाबा साहेब की मूर्ति का निर्माण कार्य शुरू कराया जाना था।इससे पहले की निगम महापौर पार्षदों एवं अधिकारियों के साथ अम्बेडकर चौक पहुंचती उत्तराखंड दलित शोषित विकास मंच ने अम्बेडकर चौक पर धरना शुरू कर दिया। मौके पर अपने तयशुदा कार्यक्रम अनुसार महापौर पहुंची तो वहां धरना स्थल बना देख वो भोच्चकी रह गई। उन्होंने धरना दे रहे लोगोंं से इसका कारण पूछा। जवाब में धरने का नेतृत्व कर रहे  जयपाल जाटव ने उन्हें बताया कि निर्माण कार्य में विलम्ब को लेकर धरना दिया जा रहा है। यह सुनते ही महापौर का गुस्सा भड़क गया। उन्होंने बाबा साहेब की मूर्ति के निर्माण कार्य मैं राजनीतिक रोटियां सेंक रहे मंच के कार्यकर्ताओं को कहा कि शहर के हित के लिए यह सही नहीं है। महापौर ने बताया कि नगर निगम प्रशासन जहां दलितों के मसीहा बाबासाहेब के अंबेडकर चौक स्थित मूर्ति स्थल को बेहद आर्कषक बनाने के साथ उसके कायाकल्प की तैयारियों में जुटा हुआ है वही आप लोग कार्य में सहयोग करने के बजाए आप लोग व्यवधान उत्पन्न कर रहे हैं। इस दौरान दोनों पक्षों के बीच हल्की कहासुनी भी हुई। हांलाकि बाद में धरना दे रहे मंच के कार्यकर्ताओं द्वारा धरना समाप्त कर देने के बाद निगम महापौर द्वारा मूर्ति निर्माण कार्य प्रराम्भ करा दिया गया।इस दौरान क्षेत्रीय पार्षद सोनू प्रभाकर, राजेश दिवाकर, राकेश पारछा,अक्षय खैरवाल, ए ई आनंद मिश्रवाण सहित बड़ी संख्या में निगम कर्मचारी मोजूद रहे।

Post A Comment: