ऋषिकेश- सरस्वती शिशु विद्या मंदिर आदर्श नगर ऋषिकेश में मातृ सम्मेलन का आयोजन किया गया । जिसमें मुख्य अतिथि डी0बी0एस0 रावत जी(पूर्व प्रधानाचार्य- श्री भरत मंदिर इंटर कॉलेज), विशिष्ट अतिथि -कुमारी मीना मिश्रा (Asst prof. In OIMT)और शिशुपाल रावत ( प्रधानाचार्य SSVM) ने मां शारदा के समक्ष दीप प्रज्वलन कर शुभारंभ किया।इस मौके पर  डी0बी0एस0 रावत  ने अभिभवकों की उत्तरदायित्व को लेकर चर्चा की ,उन्होंने कहा कि शिशु की प्रथम पाठशाला उसका घर है। इसलिए सभी लोगों को घर का वातावरण अच्छा बनाने का प्रयास करना चाहिए।  इस मौके पर प्रधानाचार्य  शिशुपाल रावत  ने विद्यालय की ओर से वर्ष भर करायी जाने वाली गतिविधियों की जानकारी दी। कहा कि बच्चों के सर्वांगीण विकास में माताओं की भूमिका अहम रहती है। माताओं को बच्चों की दिनचर्या बनानी चाहिए । जिससे उनके उज्जवल भविष्य का मार्ग प्रशस्त करेगी।अतिथि कु0 मीना मिश्रा ने कहा कि बच्चों के पालन-पोषण चरित्र निर्माण में मां की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। कहा कि कभी अपने बच्चों की दूसरे से तुलना करें बल्कि उनके आंतरिक गुणों को श्रेष्ठ बनाने का प्रयास करें। सम्मेलन में sanchalan- कु0 क्षमा शर्मा, सांस्कृतिक कार्यक्रम -तनीषा चौहान, विनय कुमार त्यागी, भाषण- इशिका,  माध्यम से मातृत्व शक्ति के महत्व से महिलाओं को परिचित कराया गया। इस अवसर 175 माताएं और विद्यालय के सभी आचार्य उपस्थित रहे।

Post A Comment: