ऋषिकेश,20 फरवरी। उत्तराखंड वन विभाग द्वारा आयोजित शिवालिक जैव विविधता पार्क की विस्तृत कार्य योजना के लिए हितधारको के विशेष सुझाव के लिए जनसंवाद कार्यशाला का आयोजन मुनिकीरेती स्थित वन गृह में किया गया। गुरुवार को आयोजित वन संरक्षक जीवन चंद्र जोशी प्रभागीय वनाधिकारी धर्म सिंह मीणा की अध्यक्षता व  विवेक जोशी  वन क्षेत्राधिकारी के संचालन में जन संवाद कार्यशाला में  शिवालिक  जैव विविधता पार्क के उद्देश्य के बारे मे जानकारी देते हुए ,वन संरक्षक प्रभारी धर्म सिंह मीणा ने उपस्थिति को  बताया कि इस पार्क के माध्यम से जहां ओषधियो का उत्पादन करेंगे। जिसके द्बारा किसानों को भी इससे लाभ मिलेगा ।उन्होने कहा कि यह पार्क रेल व हवाई जहाज से भी जुड़ा है। जिसका लाभ विभाग को मिलेगा ,उनका कहना था कि ऋषिकेश की पहचान जहाँ अन्र्तराष्ट्रीय योग नगरी के रुप मे ख्याति प्राप्त है ।वहीं इसे प्राकृतिक रुप से भी विकसित करने की आवश्यकता है । उन्होंने कहा कि हमें इसे सभी प्रकार से  विकसित करना होगा ।जिससे यहां देश ही नहीं दुनिया  से  आने वाला पर्यटक भी इसका लाभ ले सकेगा । उन्होंने कहा कि इससे पहले सुशीला गार्डन पार्क के नाम से हर्बल पार्क का निर्माण हो चुका है ।इसे भी उससे हटकर विकसित किए जाने की आवश्यकता है। मीणा ने कहा किस पार्क से हमें पूरे उत्तराखंड को जोड़ना होगा। जिससे बेरोजगारी  भी समाप्त होगी। इसको विकसित किए जाने के लिए पीपी मोड  में दिए जाने पर भी सरकार द्वारा विचार किया जा रहा है ।इसके लिए कई कंपनियों से बातचीत भी हो चुकी है। उन्होंने बताया कि इस को विकसित किये जाने के लिए टीम लीडर के रूप में राहुल स्पाल, एनवायरमेंटल  एंड फॉरेस्ट्री एक्सपर्ट स्वपन मेहरा ,पब्लिकेशन एक्सपर्ट छाया भांनती, कंजरवेटर आर्किटेक्ट तथा डिजाइनर तपस्या समाल, स्टेशन आर्किटेक्ट नीतीश भारद्वाज भी इसमें सहयोग कर रहे हैं। जिसके कारण यह विभाग का ड्रीम प्रोजेक्ट होगा  जो कि एक धन उपार्जन का  माध्यम तो बनेगा ही साथ ही आकर्षण का केंद्र भी होगा इस अवसर पर जन संवाद कार्यक्रम में अनुराग सीएम वर्मा ,कमल नारायण  बरौनी ,आरके पंत ,विनोद कुमार, आशीष कुमार माया नेगी, मंजू सुंद्रियाल ,राजेंद्र भंडारी ,सहित काफी संख्या में लोग उपस्थित।

Post A Comment: