देहरादून। केदारनाथ आने वाले श्रद्धालुओं के लिए अच्छी खबर है. वर्ष 2020 के लिए हेली सेवाओं की टेंडर प्रक्रिया शुरू हो गई है। इस वर्ष यह प्रक्रिया तय समय पर होने जा रही है, जबकि साल 2019 में तय समय पर हेली सेवाओं की टेंडर प्रक्रिया पूरी नहीं होने के चलते संचालन देरी से शुरू हुआ था। जिससे यात्रियों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ा था। इसे देखते हुए नागरिक उड्डयन विभाग इस साल चारधाम यात्रा शुरू होने से पहले ही हेली सेवाओं को दुरुस्त करने की कवायद में जुट गया है। इसके लिए विभाग ने टेंडर प्रक्रिया भी शुरू कर दी है और 10 फरवरी तक टेंडर के लिए आवेदन मांगा है। यही नहीं इस साल चारधाम में हवाई सेवा देने वाली कंपनियों को 3 साल का टेंडर देने का निर्णय लिया गया है। साथ ही किराया भी अगले 3 साल के लिए समान होगा, जिससे न सिर्फ हर साल टेंडर प्रक्रिया का झंझट खत्म होगा, बल्कि किराया बढ़ोत्तरी से भी राहत मिलेगी। इसके साथ ही नागरिक उड्डयन विभाग ने इस बार टेंडर प्रक्रिया में स्पष्ट कर दिया है कि अगर कोई ऑपरेटर आपात स्थिति में हेलिकॉप्टर उपलब्ध नहीं करा पाता है तो उस ऑपरेटर पर दो लाख रुपए जुर्माना लगाया जाएगा। यह नहीं यह सेवा सिर्फ केदारनाथ और हेमकुंड साहिब के लिए है। बाकी तीन धाम के लिए चार्टर्ड सेवाएं रहेंगी।

Post A Comment: