देहरादून। दून यूनिवर्सिटी के समीप दरोगा पिता की आड़ में बेटे द्वारा अवैध हुक्काबार धड़ल्ले से संचालित किया जा रहा था। उधर इस हुक्काबार के संचालन में पुलिस की मिलीभगत की भी बात सामने आई थी। इस मामले में देहरादून के डीआईजी अरुण मोहन जोशी ने सख्त रुख अपनाते हुए मामले की तह तक जा कर जांज कराने की बात कही है। जानकारी के अनुसारं दून यूनिवर्सिटी के पास दरोगा पिता की आड़ में बेटे द्वारा अवैध हुक्का बार संचालित किए जाने की बात सामने आई थी, जिसमें स्थानीय पुलिस पर भी मिलीभगत का आरोप लगा था, जिसका संज्ञान लेते हुए देहरादून के डीआईजी ने सख्त रुख अपनाते हुए मामले की जांच-पड़ताल कर कड़ी कार्रवाई करने की बात कही है। वहीं, खाद्य सुरक्षा अधिकारी योगेंद्र पांडे ने स्थानीय चैकी इंचार्ज पर अवैध रूप से संचालित हो रहे नशे के गोरखधंधे में उनकी जिम्मेदारी तय करते हुए प्रभावी कार्रवाई न करने का आरोप लगाया था। वहीं, इस मामले में डीआईजी अरुण मोहन जोशी का कहना है कि अवैध हुक्का बार के संचालन में अगर किसी भी स्थानीय पुलिस और अन्य वर्दीधारी लोगों की संलिप्तता सामने आती है तो उसके खिलाफ कठोर कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। जोशी ने कहा कि खाद्य सुरक्षा अधिकारी द्वारा स्थानीय पुलिस पर हुक्का बार को लेकर कार्रवाई न करने का आरोप लगाना दुर्भाग्यपूर्ण है। ऐसे में खाद्य सुरक्षा टीम की शिकायत के आधार पर जांच कराने के बाद मामले में संलिप्त लोगों के खिलाफ निश्चित रूप कार्रवाई की जाएगी।

Post A Comment: