(राजनीतिक संवाददाता द्वारा )
दिल्ली ,10फरवरी ।दिल्ली में हुए विधानसभा चुनाव के बाद आए चुनावी विश्लेषण को 11 तारीख की सुबह से ही झटका लग सकता है जिसका कारण सट्टे बाजार में 8 तारीख की शाम से  दिखाए जा रहे, विश्लेषण के बाद सट्टा बाजार के जो भाव दिखाए जा रहे थे। वह परिणाम आने से कुछ घंटों बाद पलट गए हैं। जिसके कारण सट्टा बाजार में लगाए गए करोड़ों रुपए सट्टा बाजारियो के डूबने के आसार बन रहे हैं ।राजनीतिक पंडितों का कहना है कि दिल्ली में हुए 8 फरवरी को चुनाव के दौरान 4:00 बजे तक के मतदान में हुए वोटों के प्रतिशत को लेकर सट्टा बाजार में बड़े पैमाने पर सट्टा खोरो ने पैसे लगाए थे ।लेकिन 3 घंटे के अंदर हुई ,पोलिंग के बाद सट्टा खोरों की भी जमीन खिसक गई है ।जिन्हें आशंका है कि दिल्ली की राजनीति में बड़ा उलटफेर हो सकता है ।राजनीतिक पंडितों का मानना है ,कि 3 घंटे की पोलिंग पर शाहिन बाग के खेल का होना भी है ।राजनीतिक पंडितों का कहना है  ।तीन पर्सेंट की पोलिंग ने   कांग्रेसियों को तारे दिखा दिए थे, और जिसके  बड़े नेताओं द्वारा आप पार्टी को समर्थन किया। जिसके चलते दिल्ली की जनता ने भाजपा के पक्ष में बड़ा मतदान कर दिया है ।जिसके परिणाम 11 तारीख को एवीएम से निकलने वाले परिणाम भाजपा के पक्ष में भी हो सकते हैं। जिसकी सूचना पर केजरीवाल भी सहम गए हैं।

Post A Comment: