ऋषिकेश 11 फरवरी। ऋषिकेश कोतवाली क्षेत्र में हुई हत्या के मामले में 18 वर्षो से फरार चल रहे वांरटी को पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपी छह माह जेल में रहने के बाद जमानत पर बाहर आकर  फरार हो गया था।
प्राप्त जानकारी के अनुसार दून पुलिस द्वारा इन दिनों वांरटियों के खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है। इस क्रम में ऋषिकेश कोतवाली पुलिस टीम द्वारा 18 वर्षो से हत्या के मामले में फरार चल रहे हत्यारोपी संजीव गुप्ता को गिरफ्तार करने हेतू उसके जमानतियो के विषय में जानकारी हासिल की गयी। इस दौरान पुलिस को संजीव गुप्ता के विषय में पता चला कि वह इन दिनों मुजफ्फरनगर या अंबाला में कहीं रह रहा है। इस पर पुलिस ने उसके दोनों पतों पर छापेमारी करते हुए उसे मुजफ्फरनगर से गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के अनुसार वर्ष 1995 में संजीव गुप्ता ऊर्फ सोनू के  खिलाफ  कोतवाली ऋषिकेश में हत्या के अपराध में मुकदमा पंजीकृत हुआ था। जिसमें मृतक रविंद्र सिंह निवासी श्यामपुर की चाकू मारकर हत्या की गई थी। उक्त मुकदमे में चार आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था।  जिनमें संजीव गुप्ता, किशन गुप्ता, संदीप वशिष्ठ  व अनिल शामिल थे। उक्त मामले में संजीव गुप्ता 6  माह जेल में रहने के बाद जमानत में बाहर आ गया था। जो 23 मार्च 2002 में न्यायालय से दोषी सिद्ध हुआ। जिस पर उन चारों आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा मिली। जिसके खिलाफ उक्त चारो आरोपियों द्वारा उच्च न्यायालय में अपील की गई थी, जो 9 दिसंबर 2011 को निरस्त हो गई। इस मामले के दौरान  किशन गुप्ता, संदीप वशिष्ठ व अनिल का देहांत हो चुका है, व संजीव गुप्ता ऊर्फ सोनू जमानत में आने के पश्चात वर्ष 2002 से फरार चल रहा था।

Post A Comment: