गंगा भोगपुर में किया गया ,गो सदन  का उद्घाटन

ऋषिकेश,25 जनवरी। सनातन धर्म में गाय को  माता के रूप में देखा गया है लेकिन वर्तमान समय में जिस प्रकार गायों का  वध किया जा रहा है ,वह चिंता का विषय है। जिसके लिए सामाजिक संगठनों को आगे आने के आवश्यकता है यह विचार यमकेश्वर के विधायक रितु खंडूरी ने गंगा भोगपुर तल्ला मे श्री शिव गौ सदन का उद्घाटन करने के उपरांत  उपस्थिति को संबोधित करते हुए कहा कि गाय बचेगी तो सनातन धर्म भी बचेगा जिसे बचानेेे के लिए संतों ने  अपनी कुर्बानियां भी दी  है । उनका कहना था कि आज लगातार हो रहे  गोवध के कारण गोवंश समाप्त हो रहा है लेकिन उत्तराखंड सरकार के प्रयास से  ऋषिकेश में  लोगों की सुरक्षा के लिए  आधुनिक  गर्भाधान  केंद्र की स्थापना की गई है । जिसमें गाय की नस्लों को सुधारे जाने पर कार्य किया जा रहा है  खंडूरी ने कहा कि  उन्हें उससे बड़ा दुख होता है जब सड़कों पर गायों को  खुले में छोड़ दिया जाता है  लेकिन यमकेश्वर क्षेत्र में खुले गौ सदन  के बाद अब गाय सुरक्षित रहेंगी। उद्घाटन के मौके पर भोगपुर तल्ला वासियों को विन नदी पर पुल की स्वीकृति केंद्र सरकार से लेकर आई हूँ और शीघ ही राज्य सरकार से  लैंड ट्रांसफर  करवा कर  शीघ्र ही  पुल निर्माण का कार्य शुरू करवा दिया जाएगा। इस खबर को सुनते ही ग्राम भोगपुर तल्ला वासियों ने रितु खंडूरी जिंदाबाद के नारे लगाए रितु खंडूरी ने कहा मैं गौ माता के आशीर्वाद से ही मैं विन नदी के पुल निर्माण का कार्य केंद्र सरकार से स्वीकृत लेकर आई हूं यह सब गौ माता की ही कृपा है।  गौ सदन के संस्थापक संचालक स्वामी योगाचार्य सुधीरानंद ने
कहा कि उत्तराखंड की सभी गायो को  पॉलिथीन  खाने से बचाने के लिए वह सभी  गांव मे  गौ सेवा सदन का निर्माण करेगें।  उन्होंने कहा गाय हमारी मां  है। जिसका हमें   सदा  ध्यान रखना चाहिए। उन्होंने कहा कि हमने  अपने जीवन में  5  माताओं को माना है जिसमें सर्वप्रथम धरती मां, भारत माता ,जन्म दात्री माता, गंगा माता ,गौ माता इन सभी माताओं को सदा सुरक्षित रखना चाहिए । उनका कहना था कि सारे देवताओं का वास गौमाता में है ,जिसके गोमूत्र से कैंसर व चरम रोग जैसी घातक बीमारी  तक भी ठीक हो जाती है। यहां तक कि डिप्रेशन की बीमारी भी खत्म हो जाती है । योगाचार्य ने कहा कि  जो लोग गौ मांस खाते थे ,पर उनके संपर्क में आने के बाद उन्होंने भी  गौ मांस  खाना छोड़ दिया हैं । उन्होंने क्षेत्रवासियों से आह्वान करते हुए कहा  कि  जहां भी  लावारिस गाय दिखाई पड़े वह व्यक्ति किसी भी तरह से उस गाय को उनके गो सेवा सदन तक ला सकते हैं। जिसके भोजन चिकित्सा का जिम्मेदारी उन्हीं की रहेगी ।इस अवसर पर नमामि गंगे के जिला संयोजक गजेंद्र नागर ,पूर्व जिला महामंत्री भाजपा गोपाल बत्रा , मनीष राजपूत, अशोक अग्रवाल,  ग्राम प्रधान सत्येंद्र सिंह चौधरी, भूतपूर्व सैनिक पूरनचंद कुकरेती ,पूर्व ग्राम प्रधान शेर सिंह राणा ,प्रेम सिंह नेगी ,विजेंद्र पांडे ,पूरण चंद शर्मा ,शशि रानाकोटी , मनीष राजपूत ,चंद्रमोहन सिंह नेगी ,रमेश भंडारी ,सोमा देवी, राजवीर सिंह रावत, मुकेश देवरानी, विधायक प्रतिनिधि विजेंद्र बिष्ट सहित अन्य लोग भी उपस्थित थे ।

Post A Comment: