23 जनवरी को विक्षिप्त महिला ने बच्ची को दिया था जन्म

ऋषिकेश 28 जनवरी( AKA)।चंद्रभागा नदी में संदिग्ध परिस्थिति मे एक नवजात बच्ची को कुत्तों द्वारा नोचे जाने पर चंद्रभागा  बस्ती में सनसनी फैल गई ।घाट चौकी   पुलिस प्रभारी उत्तम रमोला के अनुसार यह बच्ची एक विक्षिप्त  महिला ज्योति 35वर्ष  की है  जोकि त्रीवेणी घाट पर रैन बसेरे में निवास करती थी ,जो कि 7 महीने की गर्भवती भी थी ।कि  डिलीवरी 23 जनवरी को राजकीय चिकित्सालय में हुई थी। लेकिन बच्चे ने जन्म लेने के तुरंत बाद दम तोड़ दिया था ।जिसे उसके कथित पिता बजरंग को चिकित्सकों द्वारा  सोंप दिया गया था। पुलिस चौकी प्रभारी उत्तम रमोला ने बताया कि  विक्षिप्त महिला राजस्थान की रहने वाली है। जो कि कुछ महीनों से त्रिवेणी घाट पर ही रेन बसेरे में निवास कर रही थी, जिसका बच्चा मरने के बाद डॉक्टर ने उसके कथित पिता बजरंग को सौंप दिया था , जिसने उसे चंद्रभागा नदी में दबा दिया था। जिसे मंगलवार की सुबह कुत्ते ने निकाल लिया, और उसे खाने लगा। जिसकी लोगों ने  सूचना पुलिस को दी जिस ने मौके पर पहुंचकर नवजात शिशु को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम हेतु भेज दिया है।

Post A Comment: