ऋषिकेश, 12 दिसम्बर।  स्वामी विवेकानंद जी की जयंती के  जोकि राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में मनाई जाती है के उपलक्ष मे विवेकानंद स्मृति ट्रस्ट मायाकुंड द्वारा स्वामी विवेकानंद वाटिका नाव घाट पर उनकी प्रतिमा का  माल्यार्पण किया गया इस अवसर पर पूज्य स्वामी वृंदावन दास संत रामानंद दास जी संत किशोरी शरण जी करुणा शरण आदि संतों ने युवाओं को स्वामी विवेकानंद जी के आदर्शों पर चलने को प्रेरित किया महाराज वृंदावन दास जी ने कहां कि विवेकानंद जी का जीवन चरित ऐसा है कि आज का युवा उनसे प्रेरणा लेकर श्रेष्ठ भारत के सपने को साकार कर सकता है राम कृपाल गौतम जी व आशुतोष शर्मा ने कहा स्वामी विवेकानंद जी भारतीय दर्शन को उच्च पराकाष्ठा तक ले गए आदि गुरु शंकराचार्य के पश्चात उन्होंने ही  पाश्चात्य दर्शन पर भारतीय दर्शन की श्रेष्ठता सिद्धकी और  विश्व को उस समय यह बतलाया कि भारत ही विश्व का आध्यात्मिक गुरु है जब भारत पर राष्ट्र के अधीन  था स्वामी विवेकानंद जी द्वारा चंद्रेश्वर महादेव मंदिर में काफी लंबे समय तक तप किया गया था नाव घाट पर स्थापित  विवेकानंद जी की प्रतिमा के सम्मुख कुछ क्षण बैठने पर वहां अलग ही एक आध्यात्मिक ऊर्जा महसूस होती है सभी युवाओं को उनके जीवन से प्रेरणा लेनी चाहिए  जिससे की समाज  मैं सहजीविता और सहकार की भावना बलवती हो और उन्होंने सरकार से मांग की  की इस स्थल को  जहां स्वामी जी ने   तप किया है उनकी स्मृति को संरक्षित कर  आध्यात्मिक सर्किट के रूप में विकसित करें इस अवसर पर आदेश शर्मा विपिन शर्मा राजू बड़थ्वाल नीतू शर्मा पवन शर्मा अजय दास गिरीश राजभर रतन राय गौतम मंडल पंकज शाह  भरत गौतम  अरुण मनवाल विपिन पंवार रतन राय गजेंद्र सिंह आकाश मनीष मौर्य   बजरंगी पांडे आकाश विमल शर्मा गोविंद अनिल खेरवाल परितोष हालदार विजय सिंह अभिषेक दीपराज संजय महेंद्र आदि उपस्थित थे।

Post A Comment: