श्री श्री 108 श्री महंत भीष्म प्रताप (कपिल मुनि जी महाराज) का हुआ पट्टा उत्तराधिकारी कबीर चौरा आश्रम

ऋषिकेश, 22 जनवरी। अखिल भारतीय संत समिति ऋषिकेश के संरक्षक व पूर्व सचिव कबीर चौरा आश्रम के महंत  प्रदीप दास महाराज की  सत्रहवीं भंडारा एवं श्रद्धांजलि सभा का भव्य आयोजन कबीर चौरा आश्रम मे रखा गया जिसमें  उनके  उत्तराधिकारी श्री श्री 108  महंत भीष्म प्रताप (कपिल मुनि  महाराज)  को सभी संत महात्मा अखाड़ों गुजरात से आए हुए कबीर पंक्तियों ने  उनका  पट्टा अभिषेक उत्तराधिकारी घोषित किया आए हुए सभी कबीर पंक्तियो, अखिलेश योगी साहेब, शिवराम दास साहेब  ,प्रतीप दास  साहेब ,दयानंद साहेब, रामस्वरूप साहेब, स्वामी कृष्णानंद नानक दास, मंजू दास साहेब ,जय भगवान, प्रकाशनंन्दपुरी ,महंत सुरेशानंद ,महंत रवि देव शास्त्री , महंत शिव आनंद महंत ,बलवीर सिंह जी महाराज ,महंत महिमानंन्द जी महाराज ,महंत विनय सारस्वत, महंत हरविंदर सिंह जी  ,जय भगवान दास ,भानु मित्र , राज्यमंत्री भगतराम कोठारी, पूर्व राज्य मंत्री संदीप गुप्ता, राजेंद्र दास जी ,विनोद शर्मा ,अभिषेक शर्मा रमाकान्त भारद्वाज,  स्वामी अखंडानंद, महंत गोपाल गिरी तुलसी मानस मंदिर के अध्यक्ष पंडित रवि शास्त्री जी जगन्नाथ आश्रम  केद स्वामी लोकेशानंन्द,  महंत सर्वेंद्रधसिह ,सभी संत समाज कबीर पंक्तियों  ने कबीर दास जी महाराज को अपनी अपनी श्रद्धा सुमन अर्पित कर प्रदीप दास जी महाराज को श्रद्धांजलि अर्पित की आए हुए सभी संतो ने कहा की महंत प्रदीप दास जी साहिब समाज के लिए एक प्रेरणा स्रोत रहे हैं उन्होंने अपना पूरा जीवन संत सेवा गौ सेवा दीन दुखियों की सेवा ने अपना संपूर्ण जीवन समर्पण कर रखा था वह हमेशा समर्पण भाव की भावना रखते थे उनका जीवन सदैव सरल स्वभाव और गंगा की तरह पवित्र था उनके जाने से संत समाज को बड़ी क्षति पहुंची है कबीर साहिब राम जन्मभूमि अयोध्या में उनकी अहम भूमिका रही है चाहे वह उत्तराखंड आंदोलन हो चाहे संत समाज की लड़ाई हो हमेशा मील के पत्थर की तरह वह आगे खड़े रहे हैं युवाओं संतो को हमेशा उन्होंने आगे आकर प्रेरणा देने का काम किया है वह संत समाज के संरक्षक ही नहीं पिता तुल्य भी थे।

Post A Comment: