ऋषिकेश 28 दिसंबर l वीरभद्र स्थित नवचेतना हाई स्कूल के वार्षिक समारोह के अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष श्री प्रेमचंद अग्रवाल ने कहा है कि नैतिक मूल्य में आ रही गिरावट को ठीक करने का कार्य स्कूल स्तर पर किया जाना चाहिए! उन्होंने कहा है कि राष्ट्र निर्माण में छात्रों का मार्ग प्रशस्त एक शिक्षक ही कर सकता है l देवभूमि उत्तराखंड में संस्कारित व संस्कारवान शिक्षा आवश्यक है ! श्री अग्रवाल ने कहा है कि नैतिक शिक्षा पर विशेष ध्यान दिया जाना चाहिएl
     इस अवसर पर विद्यालय के फर्नीचर के लिए विधायक निधि से ₹ दो लाख एवं पर्यावरण पर आधारित सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत करने वाले छात्रों को एक - एक हजार ₹ विधानसभा अध्यक्ष विवेकाधीन कोष से देने की घोषणा की ।
     कार्यक्रम के वार्षिक उत्सव के अवसर पर श्री अग्रवाल ने कहा है कि भारतीय संस्कृति के अनुरूप शिक्षा व्यवस्था होनी चाहिए ! उन्होंने कहा कि व्यक्ति के अंदर यदि संस्कार हो तो वह हर मुकाम प्राप्त कर सकता है । संस्कारवान व्यक्ति ही राष्ट्र का सच्चा निर्माता हो सकता है ! इस अवसर पर श्री अग्रवाल ने विद्यालय में संचालित हो रही गतिविधियों पर संतोष व्यक्त करते हुए कहा है कि इस विद्यालय ने अनेक प्रतिभावान छात्र तैयार किए हैं ।
      कार्यक्रम के अवसर पर छात्र-छात्राओं ने सांस्कृतिक  प्रस्तुति दी । श्री अग्रवाल ने वर्ष भर में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले छात्रों को स्मृति चिन्ह एवं प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया ।
   वार्षिक समारोह के अवसर पर नव चेतना पब्लिक स्कूल के प्रबंधक अनिल नवानी, विद्यालय की प्रधानाचार्य नीलम नवानी, हरि कृष्ण दास जी महाराज, श्रीमती कुसुम जोशी , डॉ विक्रम अलंकार, जिला पंचायत सदस्य संजीव चौहान, शिक्षाविद रतन सिंह पवार,  किशोर पैन्यूली,  सुनीता कश्यप , डॉ सुधीर कुमार, वसंत कश्यप, कमला लेगी, पद्मा नैथानी, रतन सिंह पंवार आदि सहित अनेक लोग उपस्थित थे कार्यक्रम का संचालन सुनील थपलियाल ने किया ।

Post A Comment: