ऋषिकेश,। उत्तराखंड अपनी सुंदरता और विशेषताओं के लिए पूरे देश में अपनी विशेष पहचान रखता है। यहां के प्राकृतिक नजारे, नदी, पहाड़, झरने आदी हर किसी का मन मोह लेते हैं। यही वजह है कि उत्तराखंड को देवभूमि भी कहा जाता है। बहरहाल, इन दिनों अंतरराष्ट्रीय योग कैपिटल ऋषिकेश को सोलर स्मार्ट सिटी बनाने के लिए तैयारी शुरू हो रही है। इसके लिए प्रोजेक्ट भी तैयार कर लिया गया है। उत्तराखंड सरकार और नगर निगम ऋषिकेश एक साथ मिलकर स्मार्ट ग्रुप सोलर सिटी के रूप में ऋषिकेश को विकसित करने की तैयारी में है। इससे विश्व के लोगों को ऋषिकेश योग कैपिटल में प्रदूषण मुक्त हवा के साथ-साथ सभी आधुनिक सुविधाएं मिल सकेंगी। इसे लेकर नगर निगम जल्द ही सरकार से बातचीत करेगा। वहीं नगर निगम ने प्रोजेक्ट का अध्ययन शुरू कर दिया है। मामले में सोलर स्मार्ट सिटी के ऑनर बीके मोदी ने कहा कि उन्होंने सरकार से मिलकर ऋषिकेश में एक सोलर स्कीम बनाने को लेकर चर्चा की थी। इस स्कीम के तहत से हर झुग्गी-झोपड़ी में एक-एक सोलर लैंप की व्यवस्था की जाएगी। साथ ही इसके जरिए ऋषिकेश में सिर्फ इलेक्ट्रॉनिक गाड़ियां चलाने का भी प्लान है। उनका कहना है कि ऋषिकेश पैदल घूमना की जगह है, इसलिए प्रदूषण को कंट्रोल में करने के लिए ये स्कीम लाई जा रही है। गौरतलब है कि अंतरराष्ट्रीय योग कैपिटल के रूप में ऋषिकेश विश्व के नक्शे पर अपनी एक अलग पहचान बना चुका है। गोवा और केरल को पीछे छोड़कर उत्तराखंड का ऋषिकेश देशी-विदेशी सैलानियों की मनपसंद जगह बन चुका है।

Post A Comment: