ढालवाला। एमआईटी ढालवाला ऋषिकेश परिसर में मॉडर्न स्कूल सोसायटी के द्वारा उनका वार्षिकोत्सव बहुत ही धूमधाम से मनाया गया कार्यक्रम में मुख्य अतिथि उत्तराखंड शासन के कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल के द्वारा दीप प्रज्वलित करके कार्यक्रम की शुरुआत की गई। संस्थान के संस्थापक हरगोविंद जुयाल ने पहाड़ के लोगों के लिए गुणवत्तापूर्ण एवं सुलभ शिक्षा उपलब्ध कराने के लिए सन् 1970 में मॉडर्न स्कूल की स्थापना की थी। एमआईटी ढालवाला ऋषिकेश में आज मॉडर्न स्कूल एवं एमआईटी के छात्र छात्राओं के द्वारा विभिन्न रंगारंग एवं मनोरंजक कार्यक्रमों की प्रस्तुति की गई। जिसमें प्ले ग्रुप से लेकर परास्नातक तक के छात्र छात्राओं ने प्रतिभाग लिया और कई मनमोहक प्रस्तुतियां प्रस्तुत की गई। जिसमें मॉडर्न स्कूल मुख्य संकाय ऋषिकेश के कक्षा 9 10 एवं 11 के छात्र छात्राओं  के द्वारा वंदना प्रस्तुत की गई और पर्यावरण संरक्षण को ध्यान में रखते हुए वृक्ष बचाओ पर एक लघु नाटिका भी प्रस्तुत की गई और छोटे छोटे बच्चों के द्वारा जागरूकता हेतु एक लघु नाटिका 'टिक टिक प्लास्टिक' भी प्रस्तुत किया गया। विभिन्न सांस्कृतिक समन्वय को ध्यान में रखते हुए पंजाबी डांडिया के साथ गढ़वाली कालबेलिया सामूहिक नृत्य की मनमोहक प्रस्तुति देखने को मिली। मॉडर्न स्कूल के सीनियर छात्र छात्राओं के द्वारा 'गंगा तुम बहती क्यों हो' की अद्भुत प्रस्तुति भी देखने को मिली।  इसी क्रम में 2001 में एमआईटी की उच्च शिक्षा के लिए स्थापना हुई 2002 से विभिन्न विभाग कार्य करने शुरू हुए। मॉडर्न स्कूल मुख्य संकाय ऋषिकेश की प्रधानाचार्य नंदनी उनियाल के नेतृत्व में 'मिले सुर मेरा तुम्हारा' पर भी एक सामूहिक नृत्य प्रस्तुत किया गया और साथ ही साथ दो अंग्रेजी नाटक 'प्ले अ मिड समर नाइट ड्रीम' एवं 'क्रिसमस स्पेशल' ने भी अपनी छटा बिखेरी ओर इसी क्रम में गढ़वाली प्रस्तुति भी दी गई। मॉडर्न स्कूल संस्थान की संस्थापक उर्मिला जुयाल ने अपने संबोधन में बताया कि मॉडर्न स्कूल से पढ़े हुए छात्र-छात्राओं ने गढ़वाल एवं उत्तराखंड का ही नाम रोशन नहीं किया है अपितु राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भी अपने शिक्षा के आधार पर कई बड़ी उपलब्धियां हासिल की है। मॉडर्न स्कूल ढालवाला के प्रधानाचार्य डॉ वी के शर्मा ने अपने नेतृत्व में बीहू नृत्य एवं कलर थीम डांस के द्वारा अतिथियों का मन मोह लिया। मॉडर्न स्कूल ढालवाला के नन्हे मुन्ने छात्र छात्राओं के द्वारा 'मेक अ मेलडी इन माय हार्ट' एवं गढ़वाली सामूहिक नृत्य के साथ ही साथ योगा के आसनों को दर्शाया गया। मॉडर्न स्कूल प्रगति विहार के प्ले ग्रुप एवं यूकेजी, एलकेजी के नन्हे-मुन्ने बच्चों के द्वारा नृत्य करके अतिथि, मुख्य अतिथि एवं अभिभावकों का मन मोह लिया। मॉडर्न स्कूल प्रगति विहार कि प्रधानाचार्य शुभा पंत ने छोटे बच्चों को ट्रेंड करके एक ऐसा फ्यूजन डांस प्रस्तुत किया जिसकी सभी लोगों ने भूरि भूरि प्रशंसा की। एमआईटी ढालवाला ऋषिकेश के डायरेक्टर रवि जुयाल ने अपने उद्बोधन में बताया कि बालक का सर्वांगीण विकास कक्षा कक्ष अध्यापन के अलावा इस तरह के सांस्कृतिक कार्यक्रमों में भाग लेने से भी होता है और वह अपनी संस्कृति व सभ्यता से परिचित होकर अपने क्षेत्र राज्य एवं देश का नाम ऊंचा करते हैं। एमआईटी ढलवाला ऋषिकेश के बीएड के छात्र छात्राओं के द्वारा 'घर मोरे परदेसिया' एवं गढ़वाली नृत्य की ऐसी प्रस्तुति की गई कि पूरे जनसमूह में एक रोमांच की लहर दौड़ गई और 'हम उत्तराखंडी' गीत बीएड द्वितीय वर्ष की छात्राओं के द्वारा प्रस्तुत किया गया। संपूर्ण रंगारंग एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम का केंद्र बिंदु गढ़वाली फैशन सो रहा जिसमें गढ़वाल की संस्कृति का अनोखा एवं अद्भुत नजारा देखने को मिला। कार्यक्रम को होस्ट कर रहे विवेक डोभाल, अनंत एवं हर्षित बहुगुणा ने महत्वपूर्ण बिंदुओं पर प्रकाश डालते हुए कार्यक्रम की सार्थकता को सिद्ध किया। प्रोफेसर ज्योति जुयाल ने  बताया कि मॉडर्न स्कूल सोसाइटी में प्ले ग्रुप से लेकर शिक्षा तक के छात्र छात्राओं को विभिन्न कोर्सों के माध्यम से शिक्षा प्रदान करके इस लायक बनाया जाता है कि वह अपना व अपने परिवार का एवं समाज और राष्ट्र का विकास में महत्वपूर्ण योगदान दे सकें।कार्यक्रम मे मुनिकीरेती नगर पालिका के  अध्यक्ष रोशन रतूड़ी ने भी बच्चों के कार्यक्रम को सराहा। कार्यक्रम को सफल बनाने में प्रमुख रूप से डॉ एल एम जोशी,अजय तोमर,अंशु यादव, डॉ कमलेश भट्ट एवं राजेश चौधरी, कामेश यादव ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। नन्हे-मुन्ने बच्चों से लेकर सीनियर छात्र छात्राओं को सांस्कृतिक कार्यक्रम में तैयार करने का श्रेय प्रमुख रूप से भानु, अनुराखी, शालिनी, लवली,शिखा रियाल, रुचि, सुधा उपाध्याय, प्रदीप पोखरियाल, अखिलेश बिजल्वाण, सुदीप सारस्वत, शिल्पी कुकरेजा, रजनी सिंह, देवेंद्र कुमार एवं डॉ भारती कौशिक, दीपक ध्यानी, सतेंद्र सिंह रावत ,कमल किशोर, सुधीर रावत, पंकज जोशी ने अपना योगदान दिया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि कृषि मंत्री उत्तराखंड शासन सुबोध उनियाल ने सरस्वती की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित किया उन्होंने बताया कि एमआईटी ढालवाला ऋषिकेश क्षेत्र में शिक्षा का उत्कृष्ट संस्थान बताया। विशिष्ट अतिथि के रूप में एम्स के जनसंपर्क अधिकारी हरीश थपलियाल  को संस्थान के संस्थापक एच जी जुयाल ने स्मृति चिन्ह भेंट करके सम्मानित किया गया,उन्होनेे विचारों से छात्रों एवं अभिभावकों का उत्साहवर्धन किया।

Post A Comment: