राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज आवास विकास ऋषिकेश द्वारा सात दिवसीय  विशेष शिविर का उद्घाटन २६ दिसम्बर  ! गुरुवार को किया गया। जिसमें कार्यक्रम के मुख्य अतिथि समाजसेवी एवं लेखक  रामप्रसाद डंगवाल जी विशिष्ट अतिथि पूनम अनेजा (प्रधानाचार्य सरस्वती शिशु मंदिर) एवं विद्यालय के प्रधानाचार्य श्री राजेंद्र प्रसाद पाण्डेय जी व कार्यक्रम अधिकारी राम गोपाल रतूड़ी  ने दीप प्रज्वलन व मां सरस्वती के चित्र का अनावरण कर पुष्प अर्पित  कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया।
     कार्यक्रम में स्वयंसेवकों ने स्वागत गीत तथा लक्ष्य गीत  प्रस्तुत कर अतिथियों का स्वागत किया। कार्यक्रम अधिकारी रामगोपाल रतूड़ी ने राष्ट्रीय सेवा योजना के कार्य एवं महत्व के बारे में स्वयंसेवकों को बताया तथा स्वयंसेवकों को देश का अच्छा नागरिक बनने के लिए प्रेरित किया।
     कार्यक्रम के मुख्य अतिथि  रामप्रसाद डंगवाल जी ने छात्र छात्राओं को सम्बोधित करते हुए  कहा कि राष्ट्रीय सेवा योजना में स्वयं सेवक राष्ट्र के प्रति समर्पित भाव से कार्य करते हैं तथा आवश्यकता पड़ने पर किसी भी आपदा में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेते हैं।
     विशिष्ट अतिथि पूनम अनेजा  ने  छात्र छात्राओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि स्वयंसेवी समाज को प्रेरित करने का काम करते हैं तथा राष्ट्र के लिए अपना जीवन समर्पित करने का भाव उनके अंदर होता है इसके लिए उन्होंने सभी स्वयंसेवकों को शुभकामनाएं दी।
     विद्यालय के प्राचार्य  राजेंद्र प्रसाद पाण्डेय जी ने कहा कि स्वयंसेवकों को स्वावलंबन करते हुए अपने कार्य के प्रति समर्पित रहना चाहिए तथा समाज में जागरूकता का संदेश देना चाहिए ,जिससे समाज व राष्ट्र का निर्माण हो सके। जिस प्रकार से आज  हमारे देश में अनेकों बुराईया फैल रही है, व अनेकों ऐसे ऐसे मुद्दे हैं जिससे हमारा देश व समाज के अनेकों व्यक्ति सूचनाओं के अभाव में है, तथा छात्र छात्राओं को उन की भी जानकारी समाज के व्यक्तियों को देनी होगी ,अकेले एक प्रधान सेवक देश की लिए स्वेच्छा से कार्य कर रहा है,हम सब मिलकर देश को अनेकों  कार्यक्रम करके जिसमें स्वच्छता व देश हित के लिए जो भी हम कार्य कर सकते है ,सभी समाज के व्यक्तियों को जाग्रत करके उनका सहयोग लेकर इस शिविर के माध्यम से पहुचाएं। इस अवसर पर सुनील बलूनी, सतीश चौहान, कर्णपाल बिष्ट, जितेंद्र यादव, अभिषेक, अमन कुमार देवरानी, लक्की शर्मा आदि प्रमुख रूप से उपस्थित रहे। 

Post A Comment: