ऋषिकेश,12 नवंबर। आवास विकास स्थित सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज में  डॉ• एन• पी• माहेश्वरी (प्राचार्य राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय ऋषिकेश) तथा डॉ• दयाधर दीक्षित (रसायन विज्ञान प्रवक्ता राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय ऋषिकेश) एवं प्रधानाचार्य  राजेंद्र प्रसाद पाण्डेय  ने संयुक्त रूप से मां सरस्वती के चित्र का अनावरण कर दीप प्रज्ज्वलन एवं पुष्पार्चन किया।
      वंदना सत्र में दोनों अतिथियों को उनके शिक्षा क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान के लिए स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर विद्यालय की छात्राओं में प्रीति गौड़, नीलम चौहान, लक्ष्मी भंडारी एवं खुशी रस्तोगी तथा मार्गदर्शक शिक्षक  कर्णपाल बिष्ट को राष्ट्रीय विज्ञान कांग्रेस के राज्य स्तरीय प्रतियोगिता तक पहुंचने पर सम्मानित किया गया।
      कार्यक्रम में डॉ• एन• पी• माहेश्वरी जी ने विद्यालय परिवार का आभार प्रकट कर छात्र छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा कि विद्या मंदिर आज शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करते हुए अपनी परंपराओं का संवहन कर रहा है। उन्होंने कहा कि जीवन में अपनी क्षमताओं व कमजोरियों को पहचान कर तथा अवसरों का लाभ लेकर किसी भी लक्ष्य तक पहुंचा जा सकता है। इसलिए कठिन परिश्रम करते हुए अपने लक्ष्य को निर्धारित करें तो अवश्य ही सफलता प्राप्त होगी।
        कार्यक्रम में डॉ दयाधर दीक्षित ने कहा कि हमारी संस्कृति प्राचीनतम है और विज्ञान तथा सनातन संस्कृति एक दूसरे के पूरक हैं। अतः हमें धर्म का आचरण करते हुए अपने श्रेष्ठ जीवन को जीना चाहिए।
      विद्यालय के प्रधानाचार्य  राजेंद्र प्रसाद पाण्डेय ने दोनों अतिथियों का आभार प्रकट किया तथा उन्हें भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी।
       रामगोपाल रतूड़ी के संचालन में चले कार्यक्रम में सतीश चौहान, सुनील बलूनी, अनिल भंडारी, नागेंद्र पोखरियाल, संदीप कुमार, सच्चिदानंद नौटियाल, मनोरमा शर्मा, मीनाक्षी उनियाल, रीना पाटिल, रजनी गर्ग आदि उपस्थित रहे।

Post A Comment: