महापौर ने मीडिया के समक्ष प्रस्तुत किया अपने 1 वर्ष का रिपोर्ट कार्ड
जनता करे मूल्यांकन  -मेयर
ऋषिकेश- अपने 1 वर्ष का कार्यकाल पूर्ण होने पर नगर निगम महापौर ने अपना रिपोर्ट कार्ड प्रस्तुत किया। मेयर ममगाईं  ने कहा की चुनाव से पूर्व उन्होंने जो वायदे शहर के विकास के लिए तीर्थ नगरी की प्रबुद्ध जनता से किए थे उन तमाम घोषणाओं को निगम बोर्ड की बैठक में मुहर लग चुकी है, जिसके बाद नगर निगम ने अपने महज एक वर्ष के कार्यकाल में ही विकास का  मॉडल तैयार कर उन योजनाओं को मूर्त रूप देना प्रारम्भ कर दिया है।वहीं कुछ महत्वपूर्ण घोषणाओं पर शासन की मंजूरी के बाद जल्द ही कार्य प्रराम्भ होने जा रहे हैं।
जनभावनाओं के अनुरूप नटराज चौक का नाम गढ़वाल के गांधी कहे जाने वाले स्वर्गीय इन्द्रमणि  बडोनी के नाम पर करने के साथ उनकी उनकी भव्य मूर्ति स्थापित कर ऋषिकेश ही नही बल्कि तमाम उत्तराखंडवासियों का दिल जीतने वाली नगर निगम महापौर अनीता मंमगाई ने प्रथम वर्षगांठ पर आयोजित होने वाले समारोह से पूूर्व  नगर निगम का 1 वर्ष का रिपोर्ट कार्ड प्रस्तुत किया। उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त धार्मिक एवं पर्यटन नगरी ऋषिकेश के ट्रेचिंग ग्राउंड की समस्या का समाधान करने के लिए नगर निगम की ओर से लगातार शासन स्तर पर कोशिशें की गई । इसके सार्थक परिणाम अब दिखाई देने लगे हैं। जल्द ही गोविंद नगर स्थित खाली भूखंड से कूड़े घर को शिफ्ट कर दिया जाएगा। इसके अलावा तमाम  वार्डो में सफाई व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए 10 नए कूड़ा  वाहन भी लगायें जायेंगे जिसका  शुभारंभ  कल मुख्यमंत्री के हाथों होना है।शहर की पथ प्रकाश व्यवस्था को बेहतरीन बनाने के लिए तेजी से कार्य चल रहा है। सवा तीन करोड़ रुपए की लागत से 330 पोलों पर जहां ऋषिकेश हरिद्वार हाईवे मार्ग पर आईपीएल से लेकर चंद्रभागा पुल तक, देहरादून रोड पर ,तहसील चौक एवं आईएसबीटी कंपाउंड में स्ट्रीट लाइट लगवई जा रही हैं। वहीं दूसरी ओर 40 दिन 40 वार्ड योजना के तहत  शहर के सभी 40 वार्डों में सेंसर युक्त स्ट्रीट लाईटें लगवाई  जा रही है। प्रथम चरण में 5000 लाइटों के जरिए शहर के सभी वार्डों को रोशनी से सराबोर किया जाएगा। महापौर मंमगाई ने बताया कि शहर के पार्क,टायलेट और चौराहेे *बी एम आर* योजना से  डेवलप किए जायेंगे। नगर निगम लोगों के बेहतर स्वास्थ्य के लिए योग पार्कों का निर्माण भी करायेेगा। उन्होंने बताया कि निगम अंतर्गत बनने वाली  वाली अब तमाम सड़कें 5 वर्ष के लिए जीरों मेंटेनेंस योजना के तहत बनवाई जाएंगी जिसके क्षतिग्रस्त होने पर कार्यदाई संस्था को सप्ताह भर के भीतर उसे दुरूस्त करना होगा। शहर में निराश्रित पशुओं की समस्या पर  महापौर ने बताया कि  नगर निगम द्वारा  गैंडी खाता हरिद्वार में 200 जानवरों  को एक आश्रम में गोद दिया गया है । इस तरह के अन्य आश्रमों पर भी नगर निगम निगाह बनाए हुए है। ताकि  शहर में कांजी हाउस की व्यवस्था होने तक निराश्रित पशुओं की समस्या से  लोगों को निजात दिलाई जा सके ।बंदरों  की समस्या से निपटने के लिए मथुरा से बंदर पकड़ने के लिए टीम बुलाई गई है जो उन्हें पकड़कर बंदरबाड़े  में  पहुंचाएंगे।नगर निगम के ग्रामीण क्षेत्रों की समस्याओं के निस्तारण के लिए उन्होंने जानकारी दी कि बापू ग्राम में जल्द.ही एक क्षेत्रीय कार्यालय स्थापित किया जाएगा,  जिसमें वह सप्ताह में 2 दिन बैठकर  क्षेत्रवासियों की जन समस्याओं का निस्तारण करेंगी। जनता की सुरक्षा के लिए  नगर निगम द्वारा  पुलिस प्रशासन को 16 सीसीटीवी कैमरे दिए गए हैं । तीसरी आंख के  जरिए अपराधियों पर नजर रखने के लिए पुलिस प्रशासन द्वारा यदि और सीसीटीवी कैमरों की मांग की गई तो उस मांग को भी पूर्ण किया जाएगा। पार्किंग की समस्या से जूझ रहे ऋषिकेश वासियों को निजात दिलाने के लिए उन्होंने  बताया कि  चंद्रभागा नदी पर हरिद्वार की तर्ज पर पार्किंग का निर्माण कराए जाने  के लिए  कुंभ मेला कार्यालय को प्रस्ताव प्रेषित किया जा रहा है। इसके अलावा नगर निगम के सामने हरिद्वार रोड पर निगम की भूमि  पर भी मल्टी स्टोरी पार्किंग बनाए जाने की योजना है ।उन्होंने बताया नगर निगम क्षेत्र में जहां विकास की गंगा बहेेेगी वहीं करोड़ों देशवासियों की आस्था का प्रतीक माने जाने वाली मां गंगा की धारा बारहों माह तक घाटों तक नियमित व अविरल  रूप से बहे इसके लिए भी निगम कटिबद्धता के साथ जुटा हुआ है। भारत सरकार के सहयोग से इस महत्वाकांक्षी योजना के लिए डीपीआर भी तैयार की जा चुकी है। शहर की जलभराव की समस्या के निस्तारण हेतु महापौर ने बताया कि नगर के ड्रेनेज सिस्टम को सुधारने व मजबूती प्रदान करने के लक्ष्य को लेकर निगम द्वारा योजनाएं तैयार की जा रही है जो जल्द ही मूर्त रूप ले लेंगी। उन्होंने बताया नगर निगम क्षेत्र में जन सहभागिता को सुनिश्चित कराने के लिए मोहल्ला स्वच्छता समिति गठित करने की जा रहा है।इसके लिए बोर्ड में प्रस्ताव भी पारित किया जा चुका है। घाटों  के सौंदर्यीकरण के बारे में महापौर ने बताया कि 72 सीढ़ी घाट से इसका श्रीगणेश किया जा चुका है। जल्द ही अन्य घाटों को भी सजाया और संवारा जाएगा। उन्होंने बताया कि ऋषिकेश में पर्यटन   के साधनों को विकसित करने के लिए नगर निगम स्थित बैराज जलाशय वाटर स्पोर्ट्स हेतु प्रस्ताव पारित किया गया है। नगर निगम के सभी प्रमुख स्थानों पर जा हाईटेक  शौचालय बनाए जा रहे हैं वहीं विद्युत जल एवं भू संबंधी समस्याओं के निस्तारण हेतु प्रत्येक वार्ड में मिनी कार्यालय की स्थापना करने के अलावा ग्रामीण क्षेत्र बापू गांव में भी निगम का क्षेत्रीय कार्यालय आरंभ कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि फड़ ठेली वालों के लिए नगर निगम जल्द ही एक ऐसी व्यवस्था करने जा रहा है जहां उनको सुरक्षा गार्ड एवं  शौचालयों की सुविधा के साथ अपने व्यवसाय चलाने के लिए जगह दी जाएगी ।इसके लिए सर्वे किया जा रहा है। महापौर अनीता ममगई ने बताया कि 1 वर्ष पूर्व शहरवासियों की सेवा के संकल्प के साथ उन्होंने पदभार संभाला था। इस 1 वर्ष में शहर के चौमुखी विकास के लिए उन्होंने दिन रात एक करने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी। उन्हें यह बताते हुए बेहद हर्ष हो रहा है कि उत्तराखंड के तमाम नगर निगमों में ऋषिकेश नगर निगम प्रदेश सरकार की नजर में अव्वल नंबरों के साथ अपना 1 वर्ष पूर्ण करने में कामयाब रहा है। महापौर ममगई ने बताया कि उन्हें पूर्ण विश्वास है कि निगम के प्रथम वर्ष के समारोह में शामिल होने आ रहे मुख्यमंत्री कई कई महत्वपूर्ण योजनाओं की घोषणाएं कर देवभूमि ऋषिकेश वासियों को खुशियों की सौगात देंगे।

Post A Comment: