अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश के तत्वावधान में हरिद्वार में आयोजित स्वैच्छिक रक्तदान शिविर में 25 लोगों ने रक्तदान किया। शिविर में संस्थान के चिकित्सकों ने लोगों को अमूल्य जीवन को बचाने के लिए नियमितरूप से रक्तदान के लिए आगे आने को जागरुक किया। उन्होंने कहा ​कि प्रत्येक स्वस्थ मनुष्य स्वैच्छिक रक्तदान कर सकता है।                                                                                                                                                                                                          एम्स ऋषिकेश के सहयोग से लायंस क्लब की ओर से दर्शनानंद इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट एंड टेक्लानॉजी, गुरुकुल महाविद्यालय, ज्वालापुर हरिद्वार में आयोजित रक्तदान शिविर में 55 लोगों ने स्वै​च्छिक रक्तदान के लिए पंजीकरण कराया, आवश्यक चिकित्सकीय परीक्षण के बाद 25  लोगों ने महादान किया।                                                                                                                                                                                               इस अवसर पर एम्स ऋषिकेश की ओर से चलाए जा रहे रक्तदान जनजागरुकता अभियान के बाबत निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत ने बताया कि जरुरतमंदों के जीवन को बचाने के लिए रक्तदान नितांत आवश्यक है। उन्होंने कहा ​कि संकल्प के साथ रक्तदान करने वाला व्यक्ति ही किसी के जीवन को बचा सकता है। निदेशक एम्स पद्मश्री प्रो. रवि कांत ने जीवन में किए जाने वाले दान में रक्तदान को सर्वश्रेष्ठ दान बताया। लिहाजा सभी स्वस्थ लोगों को किसी भी जरूरतमंद की सहायता व उसके जीवन के संरक्षण के लिए रक्तदान जरुर करना चाहिए। उन्होंने बताया कि जरुरत के समय रक्त की कमी से होने वाली मौतों के ग्राफ को कम करने के लिए एम्स संस्थान स्वैच्छिक रक्तदान के प्रति लोगों को विभिन्न माध्यमों से जागरुक करने की मुहिम चला रहा है। जिससे लोग इसके लिए सहर्ष आगे आ सकें।                                                                                                                 संस्थान की ट्रांसफ्यूजन मेडिसिन एंड ब्लड बैंक विभागाध्यक्ष डा. गीता नेगी ने बताया कि एम्स ब्लड बैंक के अलावा उत्तराखंड व उत्तरप्रदेश के विभिन्न हिस्सों में संस्थान की ओर से प्रत्येक माह रक्तदान शिविरों के जरिए लोगों को इसके लिए जागरुक किया जा रहा है। जिससे दुर्घटना के समय जरूरतमंद लोगों को समय पर रक्त उपलब्ध हो सके व अमूल्य जीवन को बचाया जा सके। उन्होंने बताया ​कि कोई भी स्वस्थ मनुष्य जो रक्तदान महाअभियान में सहभागिता करना चाहते हों, किसी भी कार्य दिवस पर ऋषिकेश एम्स के ब्लड बैंक में आकर स्वैच्छिक रक्तदान कर सकते हैं।                                                                                                                                                                                                                                                              शिविर में आयोजक एम्स ब्लड बैंक के डा. दलजीत कौर, डा. सताक्षी जिंदल, डा. दाउद यू.बी., चिकित्सा सामाजिक कार्यकर्ता अंजू ढौंडियाल, नर्सिंग ऑफिसर दीपेंद्र सिंह, मनोज कंडवाल, रीता देवी के अलावा लायंस क्लब के अध्यक्ष अविनाश चंद ओहरी,मुस्कान फाउंडेशन की नेहा मलिक, ज्योत्सना मल्होत्रा अंकुश ओहरी, कॉलेज के प्रबंध निदेशक अनिल गोयल, राजेश गोयल, अनुराग गुप्ता, रूचि ओहरी, नीलम ओहरी, राजकुमार चौहान आदि ने सहयोग किया।

Post A Comment: