ढालवाला।।मॉडर्न इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी और पंडित ललित मोहन शर्मा राजकीय महाविद्यालय ऋषिकेश के सयुंक्त तत्वावधान में युकॉस्ट प्रायोजित बौद्धिक संपदा अधिकार विषय पर एक वर्कशॉप अयोजित की गई। कार्यक्रम का शुभारंभ पंडित ललित मोहन शर्मा राजकीय महाविद्यालय के प्राचार्य व ऑर्गनाइजिंग सेक्रेटरी प्रोफेसर एन0पी0 माहेश्वरी,कन्वेनर प्रोफेसर गुलशन कुमार ढींगरा, एम0आई0टी0 सचिव एच0जी0 जुयाल,को-कन्वेनर व निदेशक रवि जुयाल,प्रोफेसर ज्योति जुयाल, प्रोफेसर कौशल्या डंगवाल, युकॉस्ट टेक्निकल व पेटेंट एक्सपर्ट प्रियतमा मिश्रा एवम हिमांशु गोयल ने सरस्वती देवी व गणेश जी की मूर्ति पर दीप प्रज्वलित से की गई। पंडित ललित मोहन  शर्मा राजकीय महाविद्यालय ऋषिकेश  से आई छात्राओं ने वंदना की। प्रोफेसर एनपी महेश्वरी,एच0जी0 जुयाल, प्रोफेसर गुलशन कुमार ढींगरा, प्रोफेसर ज्योति जुयाल,प्रोफेसर कौशल्या डंगवाल तथा नगर पालिका परिषद मुनिकीरेती के अध्यक्ष रोशन रतूड़ी ने आई0पी0आर0 के महत्व को समझाया। मुख्य अतिथियों का एमआईटी के चेयरमैन एच जी जुयाल द्वारा मंचासीन मेहमानों का सम्मान किया गया। आइ0पी0आर0 को विस्तारपूर्वक समझाते हुए पेटेंट एक्सपर्ट हिमांशु गोयल ने पेटेंट व उसके अधिकारों के बारे में बताया। एक मोबाईल फोन पर भी उसके कवर से लेकर सिम तक कम से कम 60 आई0पी0आर0 होते हैं जो अलग-अलग व्यक्तियों द्वारा बनाये गए होते हैं। इसी प्रकार कोई लेख, कहानी,कविता आदि को कॉपीराइट अधिकार के अंतर्गत प्रयोग कर सकता है। किसी नई जानकारी,नए शोध, नए सॉफ्टवेयर,नए कलपुर्जे आदि अनेको वस्तुओं को आई0पी0आर0 के माध्यम से पेटेंट कराया जा सकता है।कार्यक्रम का संचालन डॉ0 माधुरी कौशिश लिली द्वारा किया गया।कार्यक्रम में एमआईटी संस्थान के चेयरमैन एचजी जुयाल,निदेशक रवि जुयाल,शिक्षा विभाग की विभागाध्यक्ष डॉ ज्योति जुयाल, बायोटेक विभाग की विभागाध्यक्ष डॉ कौशल्या डंगवाल,आईटी विभाग के विभागाध्यक्ष प्रदीप पोखरियाल,इंजीनियरिंग विभाग के प्रधानाचार्य डॉ वीके शर्मा, फार्मेसी विभाग के विभागाध्यक्ष अजय तोमर,मैनेजमेंट विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ एलएम जोशी,  पंडित ललित मोहन शर्मा राजकीय महाविद्यालय की ओर से वहाँ के प्राचार्य प्रोफेसर एन0पी0 माहेश्वरी,प्रोफेसर गुलशन कुमार ढींगरा,डॉ0 दयाधर दीक्षित,डॉ0 कमलेश भट्ट,अंशू यादव सहित सभी विभागों के अध्यापक और छात्र-छात्राओं की उपस्थित दर्ज की गई।

Post A Comment: