ऋषिकेश-झांसी की रानी लक्ष्मी बाई की जयंती पर महापौर अनीता मंमगाई ने वीरांगना के चित्र पर पुष्प अर्पित कर उनको याद किया।
 इस मौके पर महापौर मंमगाई ने कहा कि वीरांगना ने देश के खातिर अपना बलिदान दिया। उन्होंने अंग्रेजों के छक्के रणभूमि में छुड़ा दिए। उनका जीवन हर देशवासी के लिए अनुकरणीय है।
मंगलवार को नगर निगम में वीरांगना के जन्मदिवस पर महापौर  कहा कि महारानी लक्ष्मीबाई ने 1857 में अंग्रेजों से घनघोर युद्ध किया। अंग्रेजी सेना के पांव उखाड़ दिए। बाद में रानी युद्ध करते हुए वीरगति को प्राप्त हुईं। उन्होने जीते जी अंग्रेजों को किले में अधिकार नहीं करने दिया।  इतिहास के पन्नों में रानी लक्ष्मीबाई का नाम हमेशा स्वर्ण अक्षरों में अंकित रहेगा।

Post A Comment: