ऋषिकेश, 21 नवंबर।  हरिद्वार राजमार्ग के चौड़ीकरण के लिए 60 फीट तक चिन्हीकरण किए जाने पर राज्य आंदोलनकारियों ने रोष जताया है। गुस्साए राज्य आंदोलनकारियों ने तहसील में प्रदर्शन किया। राज्य आंदोलनकारियों ने 60 फीट की बजाए 40 फीट पर बने शहीद स्मारक तक चौड़ीकरण करने की मांग की।

गुरुवार को उत्तराखंड शहीद स्मारक समिति ऋषिकेश के बैनर तले उत्तराखंड राज्य आंदोलनकारियों ने तहसील में प्रदर्शन कर एसडीएम को ज्ञापन सौंपा। आंदोलनकारियों ने कहा कि वर्ष 1994 में मसूरी कांड, रामपुर तिराहा कांड के दौरान 42 राज्य आंदोलनकारियों की पुलिस की गोली से शहादत हो गई थी, जो राज्य आंदोलनकारियों व जनमानस की आस्था का प्रतीक है। इन 42 राज्य आंदोलनकारियों की याद में ऋषिकेश स्थित हरिद्वार राजमार्ग पर शहीद स्मारक का निर्माण करवाया गया। शहीद स्मारक के लिए श्री भरत मंदिर ट्रस्ट ने भूमि दान की। उसके बाद राजमार्ग से 40 मीटर की दूरी पर तत्कालीन जिलाधिकारी की मौखिक अनुमति पर यहां शहीद स्मारक बनाया गया। यहां 40 फीट पर राजमार्ग किनारे नाली भी बनी है। लेकिन अब हाईवे चौड़ीकरण के दौरान अधिकारियों द्वारा राजमार्ग के सेंटर से 60 फीट तक चिन्हीकरण किया जा रहा है और इस शहीद स्मारक को अतिक्रमण बताया जा रहा है। जबकि उस समय प्रशासन की अनुमति के बाद यह शहीद स्मारक 40 फीट की दूरी पर बना था। कहा कि साथ ही यहां बनी दुकानों व मार्केट को शहीद स्मारक मार्केट के नाम से जाना जाता है। इसका उल्लेख निगम के दस्तावेजों में भी हैं। ऐसे में राजमार्ग चौड़ीकरण के दौरान सेंटर से 40 फीट तक ही चिह्नीकरण किया जाए। यहां शहीद स्मारक व शहीद स्मारक मार्केट जो 40 फीट पर बना है, उसे अतिक्रमण से बाहर रखा जाए। शहीद स्मारक राज्य आंदोलनकारियों की आस्था व शहीदों की शहादत का प्रतीक है। इसे किसी भी प्रकार का नुकसान नहीं होना चाहिए। अगर स्मारक व शहीद स्मारक मार्केट को किसी भी प्रकार का नुकसान हुआ तो राज्य आंदोलनकारी सड़कों पर उतरकर आंदोलन करने को बाध्य होंगे।प्रदर्शन करने वालों में वेद्रप्रकाश शर्मा, विक्रम सिंह भंडारी, गंभीर सिंह मेवाड़, युद्धवीर सिंह चौहान, मनीषा वर्मा, रामेश्वरी चौहान, देवकी, बृजेश डोभाल, शकुंतला सिंह, गोदाम्बरी खंडूरी, जयंती नेगी, अजय गुलाटी, आशीष जोशी, सुरेंद्र उनियाल, गोविंद सिंह रावत, सुशीला पोखरियाल, विद्यावती सेमवाल, विजय पंत, पुष्पा शर्मा, लीला कपरुवान, पूर्णिमा बडोनी, संपत्ति पेटवाल, गुड्डी डोभाल, उर्मिला डबराल, शीला भंडारी, अंजू गैरोला, कृषणा देवी, प्रेमा सिंह रावत, गुलाब सिंह रावत, कर्म चंद गुसाईं, जया डोभाल, बचनी रावत, माहेश्वरी बिष्ट, नरेश ध्यानी, जगदीश प्रसाद भट्ट आदि शामिल थे।

Post A Comment: