ऋषिकेश, 4 नवंबर। (AKA) चंद्रभागा नदी में अवैध रूप से रह रहे, लोगों के मकानों पर फिर गरजी जेसीबी।  हाईकोर्ट व  एनजीटी के आदेश के अनुपालन में चंद्रभागा सहित नदियों के किनारे बसे अवैध रूप से लोगों को हटाए जाने के लिए  अतिक्रमण हटाओ अभियान चलाया गया। चंद्रभागा नदी में अवैध रूप से रह रहे, लोगों की नगर निगम के मुख्य आयुक्त द्वारा एक बार सुनवाई भी कर ली गई है ।जिनके पास कोई भी जमीन संबंधी दस्तावेज उपलब्ध नहीं हुए हैं ।जिससे यह स्पष्ट हो गया है कि यह पूरी तरह अवैधानिक रूप से रह रहे हैं। सिंचाई विभाग के अधिकारियों ने बताया कि उक्त लोगों को हटाए जाने के लिए विभागीय कार्रवाई के अंतर्गत नोटिस भी जारी किए गए थे ।लेकिन उसके बावजूद भी लोग रह रहे हैं। यहां यह भी बताते चलें कि पिछले दिनों कुंभ मेला अधिकारी द्वारा भी इन्हें एनजीटी के आदेश के अनुपालन में हटाए जाने के आदेश पारित किए गए थे ।जिसके अंतर्गत कुछ लोगों को प्रशासन द्वारा हटाया भी गया था। लेकिन अभियान अधूरा छूट जाने के चलते यह अतिक्रमण कारी फिर उसी स्थान पर आकर बस गए हैं ।जिन्हें फिर आज से हटाए जाने का निर्णय लिया गया है। जिसके लिए पुलिस  प्लाटून पीएसी के साथ  दो जेसीबी के द्वारा अवैध अतिक्रमण को हटाया गया। स्थानीय लोगों के द्वारा काफी विरोध भी किया गया कुछ लोगों का कहना था सरकार द्वारा जब भी इस तरह की कोई कार्रवाई की जाती है तो मानव अधिकार आयोग का गाइड लाइन में यह निर्देश है की इस तरह की कार्रवाई करने से पहले एंबुलेंस फयर ब्रिगेड की व्यवस्था की जानी चाहिए जो कि अतिक्रमण स्थल में यह दोनों  ही नहीं दिखाई दिए।इस मौके पर तहसीलदार रेखा आर्य, सिंचाई विभाग के अनुभव नौटियाल, इलम दास, विनोद लाल आनंद सिंह  मिश्रवाण,, अवनीश रावत कोतवाली के वरिष्ठ उप निरीक्षक मनोज नैनवाल भी उपस्थित थे।

Post A Comment: