ऋषिकेश,14 नवंबर। ( AKA) ऋषिकेश नगर कांग्रेस कमेटी के बैनर तले पूर्व  मुख्यमंत्री हरीश रावत के आव्हान पर नेहरू के सपनों को बिखरने नहीं देंगे, उत्तराखंड की संपत्तियों को बिकने नहीं देंगे के नारे के साथ टिहरी जल विद्युत निगम को निजी हाथों में बेचे जाने के विरोध में पंडित जवाहरलाल नेहरु की 131 वी जयंती पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने ऋषिकेश में टीएचडीसी गेट पर धरना दिया। गुरुवार को हरीश रावत के आह्वान पर जो सिंह बिष्ट के संचालन में चले टीएचडीसी गेट पर आयोजित धरने के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि पंडित नेहरू ने भारत को आदमी के रूप में बनाए जाने का कार्य क्या है लेकिन भारतीय जनता पार्टी भारत को जहां नया बनाए जाने की बात कर रही है वही वह भारत को ही निजी हाथों में देकर बेचने का षड्यंत्र कर रही है हरीश रावत ने आरोप लगाया कि आने वाले समय में स्वतंत्र सेनानी के रूप में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के लोगों के नाम देश देखेगा। उन्होंने कहा कि आज उन्हीं को पद्मश्री जैसे पदो  से नवाजा जा रहा है जिनका देश की आजादी में कोई योगदान नहीं रहा है। यहां तक कि इतिहास के नए तरीके से गढने के लिए सड़कों का नाम भी बदला जा रहा है । भारतीय जनता पार्टी आज देश के संविधान को भी बदलने का प्रयास कर रही है। इसके पीछे एक ही मंशा है कि कांग्रेस द्वारा किए गए उन सभी स्मारकों  के नामों को बदलना है। उनका आरोप था कि भारतीय जनता पार्टी ने एक बड़ा संस्थान उद्योग भारत में नहीं लगाया है ।जिसके नाम पर भारतीय जनता पार्टी की पहचान हो सके। उन्होंने कहा टीएचडीसी, टेलीकॉम सेक्टर, विद्युत जैसे संस्थान को बचाने के लिए कांग्रेस को एकजुट होने की  जरूरत है। सभी भारतीय जनता पार्टी प्रदेश से हटेगी और लोग लोकतंत्र बचेगा।

 पूर्व कैबिनेट मंत्री मातबर सिंह कंडारी ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार बेरोजगारों को रोजगार दिए जाने की बात करती है लेकिन वह टिहरी बांध जैसी परियोजना को निजी हाथों में देकर स्थानीय लोगों को बेरोजगार बनाने पर तुली है। क्योंकि दुर्भाग्य की बात है। इस बांध को बनाने के लिए स्थानीय युवाओं ने बड़ी कुर्बानी दी है जिसे हम बेकार नहीं जाने देंगे ।अन्य वक्ताओं ने उपस्थिति को संबोधित करते हुए कहा कि जहां भारतीय जनता पार्टी की सरकार देश में उद्योग पतियों को आमंत्रित कर रही है, वहीं वह बड़े बड़े पूंजीपतियों को देश के बड़े संस्थान देश बेचने के लिए तैयार है जिसे कांग्रेस पार्टी बर्दाशत नहीं करेगी। उन्होंने कहा कि टीएचडीसी को कांग्रेस निजी हाथों में जाने से रोकने के लिए लगातार आंदोलन करेगी ,क्योंकि यह संस्थान गढ़वाल के लिए मुख्य है इससे हजारों लोगों का रोजगार भी जुड़ा है जिसे वह बिकने नहीं देंगे।धरने पर बैठने वालों में पूर्व कैबिनेट मंत्री मातबर सिंह कंडारी,, पूर्व विधायक बलबीर सिंह नेगी, किशोर उपाध्याय, जोत सिंह बिष्ट,  बचन  पोखरियाल, भीम लाल आर्य, मनीष खंडूरी ,शांति भट्ट, रमेश उनियाल, केपी सोलंकी, ओपी चौहान, देवी प्रसाद व्यास आनंद सिंह रावत ,नरेंद्र राणा, शुरवीर सिंह सजवाण, राजपाल खरोला,  सनत शास्त्री ,जयपाल जाटव, जयेंद्र रमोला, हरिद्वार नगर पालिका के पूर्व अध्यक्ष सतपाल ब्रह्मचारी, हरिद्वार कांग्रेस के अध्यक्ष पुरुषोत्तम शर्मा ,राजकुमार अग्रवाल, शिव मोहन मिश्रा, रामविलास रावत, महंत विनय सारस्वत सहित काफी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता उपस्थित थे।

Post A Comment: