देहरादून।छात्रवृत्ति घोटाले में गिरफ्तार हुए संयुक्त निदेशक गीताराम नौटियाल ने पूछताछ में विभाग के कई अधिकारी व कर्मचारियों के नाम उगले हैं। इनमें कुछ अधिकारी रिटायर्ड भी हो चुके हैं। एसआइटी अब उनकी भूमिका का सत्यापन करेगी। ऐसा माना जा रहा है कि बहुत जल्द विभाग के कुछ और अधिकारी व कर्मचारियों की भी गिरफ्तारी हो सकती है।
अनुराग शंखधर की तरह ही गीताराम नौटियाल भी हरिद्वार और देहरादून जिले में समाज कल्याण विभाग के अधिकारी रह चुके हैं। एसआइटी की जांच में सामने आया है कि अनुराग शंखधर और गीताराम नौटियाल की तैनाती के दौरान ही छात्रवृत्ति के नाम पर बड़ा खेल हुआ है। इसलिए अनुराग शंखधर की गिरफ्तारी के बाद से गीताराम नौटियाल की गिरफ्तारी भी तय मानी जा रही थी।
इस घोटाले में एडीओ समाज कल्याण स्तर के अधिकारी भी शामिल हैं। सूत्र बताते हैं कि गुरुवार को एसआइटी ने पूछताछ के दौरान गीताराम नौटियाल से विभाग के अन्य अधिकारी कर्मचारियों के बारे में पूछताछ की। गीताराम ने कुछ ऐसे लोगों के नाम भी एसआइटी को बताए हैं जो कॉलेजों और अधिकारियों के बीच सांठगांठ कराते थे। घोटाले में उन्हें भी मोटा कमीशन मिला है। नौटियाल ने जो नाम बताए हैं, एसआइटी अब उनकी कुंडली खंगालने में जुट जाएगी।

Post A Comment: