अध्यात्म ज्ञान तथा सत्संग
द्वारा लोगों में राष्ट्रभक्ति की भावना जगाने, पारस्परिक प्रेम, मानवीय एकता, सामाजिक सदभाव तथा विश्व शांति का वातावरण बनाने के उद्देश्य से श्री हंस जी महाराज की पावन जयंती के उपल्क्ष में
श्री हंसलोक जनकल्याण समिति द्वारा श्री हंसलोक आश्रम छतरपुर, नई दिल्ली में  9 एवं 10 नवम्बर को दो दिवसीय विशाल सत्संग समारोह का आयोजन किया गया। 
इस विशाल सत्संग समारोह में आध्यात्मिक गुरु एवं समाज सेवी श्री भोले जी महाराज एवं माताश्री मंगला जी ने  श्री हंस जी महाराज के व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर प्रकाश डाल साथ ही अध्यात्म ज्ञान को व्यवहारिक रूप से समझाने एवं अपनाने हेतु धर्म ग्रन्थों के आधर पर सारगर्भित सत्संग-प्रवचन किए। 
श्री हंस जी महाराज की पावन जयंती के उपलक्ष्य में श्री भोले जी महाराज एवं माताश्री मंगला जी के सानिध्य में
श्री हंसलोक जनकल्याण समिति द्वारा आयोजित इस समारोह में देश-विदेश से हजारों श्रद्धालु एवं
संत-महात्मा शामिल हुए।
इस मौके पर द हंस फाउंडेशन की प्रेरणास्रोत माताश्री मंगलाजी ने कहा कि श्री हंस जी महाराज जी अपने समय के ऐसे महान संत थे जिन्होंने धर्मिक संकीर्णता, साम्प्रदायिकता तथा
सामाजिक बुराइयों के खिलाफ लोगों को जागरूक किया। उन्होंने अज्ञानता के अंधकार में फंसे करोड़ों लोगों को ज्ञान की दीक्षा देकर उनके जीवन में  उजाला कर दिया। वे सभी धर्मों  का सम्मान करते थे ।
इस मौके पर माता मंगला जी बताया कि  द हंस फाउंडेशन  देश के 28 राज्यों में गरीब तथा जरूरतमंद लोगों की सेवा-सहायता करके श्री हंस जी
महाराज के सपने को साकार कर रहा है। श्री हंस जी महाराज जी के आशीष से सतपुली में स्थापित द हंस फाउंडेशन जरनल अस्पताल सतपुली ने सेवा के क्षेत्र में  दो वर्ष पूरे कर लिए है। यह सुखद है कि इस अस्पताल के माध्यम से हम असंख्य लोगों को सेवा दे पा रहे हैं। इसी के साथ द हंस फाउंडेशन बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री, यमुनोत्री,
देहरादून, सतपुली तथा हरिद्वार में  धर्मार्थ सुपरस्पेश्यिलिटी अस्पतालों एवं देश के कई राज्यों में गरीब बच्चों के लिए निःशुल्क स्कूलों का संचालन किया जा रहा है। 
 इस मौके पर श्री भोले जी महाराज ने ‘हंसा निकल गया पिंजरे से, खाली पड़ी रही तस्वीर’’ तथा ‘जीवन है बेकार भजन बिन दुनिया मे’ भजन प्रस्तुत कर लोगों को ज्ञान एवं भक्ति मार्ग  पर चलने के लिए पेरेरित किया।
इस अवसर पर लोक गायिका  नेहा खंकरियाल ने सत्संग, ज्ञान, भक्ति, सतगुरु,भगवान
शिव, मां दुर्गा  तथा श्री हंस जी महाराज की महिमा से जुड़े भजन प्रस्तुत कर माहोल को भक्तिमय बना दिया। इस मौके पर बाल सभा का आयोजन किया गया जिसमें देश के विभिन्न राज्यों से आए माता राजेश्वरी करुणा स्कूल के बच्चों ने राष्ट्रप्रेम, शांति, एकता तथा सद्भाव को बढ़ावा देने वाले सांस्कृतिक
कार्यक्रम प्रस्तुत कर सभी का मन मोह लिया। इस मौके पर  अनुभवी एवं कुशल डाॅक्टरों के मार्गदर्शन में हंस कल्चरल सेंटर तथा श्री हंसलोक जनकल्याण समिति द्वारा निःशुल्क चिकित्सा शिविर का आयोजन भी 
किया गया। जिसमें हजारों लोगों ने डाॅक्टरी परामर्श एवं दवाइयां लेकर स्वास्थ्य लाभ प्राप्त किया।

Post A Comment: