एम्स ऋषिकेश के कॉलेज ऑफ नर्सिंग के तत्वावधान में जवाहर नवोदय विद्यालय हरिद्वार में हेल्थ एंड फिटनेस तथा महिलाओं के प्रति हिंसा उन्मूलन विषय पर कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस अवसर पर बच्चों ने स्लोगन, पोस्टर मेकिंग व निबंध लेखन प्रतियोगिताओं में बढ़चढ़कर हिस्सा लिया। कॉलेज ऑफ नर्सिंग की ओर से अव्वल विद्यार्थियों को प्रशस्ति पत्र व पुरस्कार भेंटकर सम्मानित किया गया।                                                                                                                         हरिद्वार स्थित जवाहर नवोदय विद्यालय में एम्स ऋषिकेश कॉलेज ऑफ नर्सिंग की छात्राओं ने  हेल्थ एवं फिटनेस विषय पर रोचक कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिसमें विद्यालय के बच्चों ने बढ़चढ़कर प्रतिभाग किया। विभिन्न प्रतियोगिताओं प्रथम, द्वितीय व तृतीय व सांत्वना पुरस्कार प्राप्त करने वाले बच्चों को पुरस्कार के साथ प्रशस्तिपत्र भेंट कर सम्मानित किया गया।                                                                                                                                  इस अवसर पर एम्स निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत ने समाज में महिलाओं के प्रति बढ़ती हिंसा पर गंभीर चिंता जताई व इसकी रोकथाम के लिए सभी वर्गों से सामुहिक संकल्प लेने का आह्वान किया। उन्होंने महिलाओं के प्रति हिंसा उन्मूलन जैसे गंभीर विषय पर बच्चों को जागरुक करने को इस तरह के रचनात्मक प्रयासों की सराहना भी की। निदेशक एम्स पद्मश्री प्रो. रवि कांत ने छात्र-छात्राओं को जीवन में सफलता प्राप्त करने के लिए पठन-पाठन में गहरी रूचि रखने व सर्वांगीण विकास के लिए शिक्षणेत्तर गतिविधियों में भी सतत सहभागिता के लिए प्रेरित किया। उन्होंने बच्चों को अपने स्वास्थ्य के प्रति सजग रहने को भी कहा।                                                                                                                                                  डीन नर्सिंग प्रो. सुरेश के. शर्मा ने छात्र- छात्राओं को पढ़ाई में अव्वल रहने के लिए सेहत के प्रति जागरुक रहने, अच्छे भोजन के साथ नियमित व्यायाम व योग को अपनाने को कहा। उन्होंने कहा कि देश के स्वस्थ व स्वर्णिम भविष्य के लिए इन बातों पर गौर किया जाना नितांत आवश्यक है। इसके अलावा विद्यार्थियों को विभिन्न नाट्य प्रस्तुतियों के माध्यम से बहुपयोगी जानकारियां दी गई। जिसमें बच्चों को यातायात नियमों के प्रति जागरुक किया गया, इसके अलावा मानसिक स्वास्थ्य, मदिरा पान से दूर रहने, डेंगू, मलेरिया, टीबी जैसे संक्रामक बीमारियों को लेकर जागरुक किया गया।                                                                                                                                                                                   उन्हें बीमारियों से दूर रहने के लिए हैंड हाईजीन के प्रति जागरुक किया गया व अपने आसपास के क्षेत्र को स्वच्छ रखने को प्रेरित किया गया। इस दौरान एम्स कॉलेज ऑफ नर्सिंग चतुर्थ वर्ष व जेएनवी की छात्राओं के बीच खो-खो खेल का आयोजन भी किया गया। जिसमें जेएनबी टीम विजयी रही। कार्यक्रम में करीब 550 छात्र छात्राओं ने हिस्सा लिया। कार्यक्रम में जेएनवी के प्राचार्य एस.सी. जोशी व सहायक प्राचार्य एस.के.त्यागी ने एम्स ऋषिकेश की ओर से बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए इस तरह की मुहिम को सराहा, उन्होंने कहा ​कि ऐसे कार्यक्रमों में निरंतरता लाई जानी चाहिए,जिससे बच्चे उक्त सभी विषयों के प्रति जागरुक हो सकें।                                                                                                                                                                 इस अवसर पर कॉलेज ऑफ नर्सिंग एम्स की सह आचार्य बसंता कल्याणी, राजराजेश्वरी,
कार्यक्रम के संचालक देवनारायण सामरीया, कालेश्वरी, शर्मिला आदि ने सहयोग किया।

Post A Comment: