देहरादून। पैगम्बर ए इस्लाम हजरत मोहम्मद साहब की जन्मदिन की खुशी में उत्तराखंड में कई जगह शान-ए-जुलूस निकाला गया। इस दौरान कई जगह सामाजिक सौहार्द की झलक देखने को मिली। देहरादून, हल्द्वानी और हरिद्वार में मुस्लिम समुदाय के लोग इस दौरान जुलूस में हाथ मे तिरंगा लेकर निकले।हरिद्वार के ज्वालापुर और पथरी क्षेत्र के दर्जनों गांव से पिरान कलियर में उर्स के चलते गांव के जिम्मेदार लोग और युवा पीढ़ी और महिलाओं ने भी बढ़-चढ़कर भाग लिया। मिलादुन्नबी अवसर पर चादर ले जाते हुए सभी ने मुल्क के लिए दुआ मांगी। इसके साथ ही लोग तिरंगे की चादर लेकर भी रवाना हुए।  इस दौरान रास्ते में पुलिस का पुख्ता इंतजाम रहा। इसमें राजस्व विभाग और एलआईयू के प्रभारी राकेश कुमार टीम जुलूस में शामिल रहे। धनपुरा, चाँदपुर, कटारपुर, पदार्था, नाशिरपुर कला, घिससुपुरा क्षेत्र के लोगों ने ज्वालापुर से पिरान कलियर तक पैदल जुलूस निकाला और पैगम्बर मोहम्मद की शान में कसीदे पढ़े। रुद्रपुर में इस दौरान जुलूस-ए-मोहम्मदी में मुस्लिम बच्चों ने हिंदुस्तानी सेना की ड्रेस पहनकर हिंदुस्तानी सेना को सलामी दी। जुलूस में हिंदुस्तान की एकता और अखंडता का संदेश दिया गया। जुलूस ईदगाह खेड़ा से शुरू होकर किच्छा बाईपास रोड, डीडी चैक, नैनीताल रोड, सिब्बल सिनेमा रोड, गांधी कालोनी रोड होते हुए सिरगोटिया मस्जिद के पास समाप्त हुआ। जुलूस में शामिल मौलानाओं ने तकरीर पढ़ी। कहा मोहम्मद साहब नर दुनिया को शांति का पाठ पढ़ाया। सभी को मिलजुल कर रहना सिखाया। उत्तरांचल मुस्लिम यूथ मोर्चा के संयोजक मुमताज हुसैन मंसूरी ने बच्चों ओर उनकी टीम की सराहना करते हुए कहा कि हिंदुस्तान हमेशा गंगा जमुनी तहजीब का हिमायती रहा है। देहरादून में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने गोसिया जामा मस्जिद गांधी ग्राम से जुलूस निकाला। जुलूस में समुदाय के लोग हाथ में तिरंगा लेकर निकले और अमन शांति बनाए रखने की अपील की। जूलूस में हजारों लोग शामिल हुए।

Post A Comment: