अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश की ओर से अंतरराष्ट्रीय बुजुर्ग दिवस पर स्वास्थ्य शिविर आयोजित कर वरिष्ठ नागरिकों का स्वास्थ्य परीक्षण किया। शिविर में करीब सौ मरीजों का परीक्षण व उपचार किया गया।                                                                                                                                                                                              इस अवसर पर संस्थान के निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत ने कहा कि हरवर्ष अंतरराष्ट्रीय बुजुर्ग दिवस उस पीढ़ी को सम्मान देने के लिए मनाया जाता है जिसने अपने प्रेम व स्नेह से सींचकर नई पीढ़ी को आगे बढ़ाया है। लिहाजा हम बुजुर्गों की सेवा के लिए प्रतिबद्ध हैं, बुजुर्गों की सेवा का धर्म सभी को निभाना चाहिए। निदेशक एम्स पद्मश्री प्रो. रवि कांत ने बताया कि संस्थान द्वारा आउटरीच गतिविधियों के माध्यम से इस तरह के शिविरों का आयोजन कर बुजुर्गजनों की सेवा की जाती है। कारण रोगियों के इस समूह के पास स्वास्थ्य सुविधाओं का अभाव होता है। ऐसे में हमारा दायित्व बनता है कि हमें बुजुर्गों तक पहुंचकर उनकी तकलीफ को कम करने का प्रयास करना चाहिए।                                                                                                                         एम्स संस्थान की ओर से मंगलवार को स्वर्गाश्रम स्थित वेद निकेतन में आयोजित आउटरीच स्वास्थ्य शिविर का मुख्य अतिथि मेडिकल सुपरिटेंडेंट डा.ब्रह्मप्रकाश ने विधिवत शुभारंभ किया। शिविर के तहत सौ से अधिक बुजुर्ग रोगियों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया,साथ ही एम्स की ओर से उन्हें दवा वितरित की गई। इस दौरान मरीजों की अन्य जरूरी जांचें भी की गई। शिविर में संस्थान की जिरियाट्रिक यूनिट की विभागाध्यक्ष डा. मीनाक्षी धर एवं डा.अनिरुद्ध मुखर्जी के अलावा डा. मोनिका पठानिया,डा.निधि कैले, डा.विक्रम सिंह रावत तथा  नर्सिंग विद्यार्थियों व पैरामेडिकल स्टाफ ने भी सहयोग किया।

Post A Comment: