बृहस्पतिवार को सूूबे के पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश पहुंचकर निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत से शिष्टाचार भेंट की और संस्थान की प्रगति, एम्स अस्पताल में मरीजों के लिए उपलब्ध सुविधाएं व उपचार से संबंधित विस्तृत जानकारी हासिल की। इस दौरान निदेशक एम्स पद्मश्री प्रो. रवि कांत ने बताया ​​कि अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान ऋषिकेश में मरीजों को वर्ल्ड क्लास स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया कराई जा रही हैं, संस्थान में अधिकांश विभागों की स्थापना व विशेषज्ञ चिकित्सकों की तैनाती होने से मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है।                                                                                                                                                                         निदेशक एम्स ने उन्हें बताया ​कि संस्थान में प्रतिदिन ओपीडी में 4 हजार से अधिक रोगी उपचार कराने पहुंचते हैं। मरीजों का दबाव बढ़ने से उन्हें बेड उपलब्ध नहीं हो पा रहे हैं,जिससे उन्हें परेशानी हो रही है। वजह 960 बेड के एम्स अस्पताल में शत- प्रतिशत बेड भरे होने के कारण मरीजों को भर्ती होने में दिक्कतों का सामना पड़ता है। पर्यटन मंत्री को बताया गया कि 960 बेड वाले एम्स अस्पताल के सभी कार्य पूर्ण हो चुके हैँ, जबकि 120 बेड के ट्रामा सेंटर का कार्य भी जल्द पूर्ण होने की संभावना है। निदेशक एम्स प्रो. रवि कांत ने उन्हें बताया कि एम्स परियोजना के द्वितीय चरण में एक हजार बेड के प्रस्तावित अस्पताल निर्माण की दिशा में शीघ्र कार्रवाई करनी होगी। जिससे सभी रोगियों को दाखिला व उपचार दिया जा सके। निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत ने उन्हें बताया कि उत्तराखंड में एम्स की स्थापना के बाद से मेडिकल टूरिज्म की संभावनाएं बढ़ गई हैं, उन्होंने इसकी वजह संस्थान में मरीजों को उपलब्ध कराई जा रही विश्वस्तरीय स्वास्थ्य सुविधाओं को बताया।                                                                              पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने निदेशक एम्स को भरोसा दिलाया कि राज्य सरकार इस दिशा में शीघ्र कार्रवाई करेगी। पर्यटन मंत्री महाराज ने बताया कि सरकार की ओर से स्वास्थ्य मंत्रालय भारत सरकार को पत्र भेजकर एम्स संस्थान को एक हजार बेड के अस्पताल निर्माण के लिए धनावंटन की मांग की जाएगी। जिससे संस्थान में उपचार कराने के लिए आने वाले मरीजों को बिस्तर की कमी से परेशान नहीं होना पड़े। इस दौरान पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने निदेशक एम्स प्रो. रवि कांत को अपने सुपुत्र के विवाह समारोह में शामिल होने का न्यौता भी दिया। इस अवसर पर डीन एकेडमिक प्रोफेसर मनोज गुप्ता, एमएस डा. ब्रह्मप्रकाश आदि मौजूद थे।

Post A Comment: