शत्रुघ्न घाट ऋषिकेश 10 अक्टूबर l गंगा राफ्टिंग अभियान (आह्वान दल) में शामिल केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत एवं अभियान दल का ऋषिकेश के शत्रुघ्न घाट पर उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल सहित अनेक लोगों ने स्वागत किया ।
     शत्रुघ्न घाट पर आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रुप में पहुंचे उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष श्री प्रेमचंद अग्रवाल ने कहा है कि गंगा की स्वच्छता ही मां गंगा की सबसे बड़ी आराधना है l
       राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन ‘जल शक्ति मंत्रालय भारत सरकार’ के तत्वावधान में राष्ट्रीय नदी गंगा एवं इसकी सहायक नदियों की स्वच्छता एवं संरक्षण के प्रति जनमानस में जागरूकता अभियान आज ऋषिकेश पहुंचा  जहां  गंगा की स्वच्छता के प्रति लोगों को जागरूक किया गया l
    इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष श्री प्रेमचंद अग्रवाल ने कहा कि  आज देवप्रयाग से गंगासागर तक राफ्टिंग अभियान का आयोजन गंगा की स्वच्छता के लिए  मील का पत्थर साबित होगा l
        देवप्रयाग से गंगासागर तक  यात्रा गंगा नदी में हो रहे प्रदूषण के कारणों एवं उसके निवारण हेतु जारी प्रयासों के अंतर्गत गंगा नदी के तट पर अवस्थित विभिन्न नगरों और कस्बों में जनमानस से संवाद कर गंगा स्वच्छता एवं संरक्षण के प्रति उनकी भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए प्रयास अद्भुत है।
        श्री अग्रवाल ने कहा कि गंगा की घाटी दुनिया की सबसे अधिक आबादी वाली नदी घाटी मानी जाती है। यहाँ 60 करोड़ शहरी और ग्रामीण आबादी बसी हुई है या कहें तो देश की कुल आबादी का लगभग आधे से अधिक हिस्सा यहाँ रहता है। लेकिन यहाँ घनी आबादी का दबाव है और पानी एवं स्वच्छता के बुनियादी ढाँचे का अभाव है l गंगा की घाटी मूल रूप से कृषि प्रधान है और यहाँ बसे शहरों में छोटे पैमाने पर, अनियमित और प्रदूषण फैलाने वाले उद्योग हैं। इसके अलावा अनेक तीर्थस्थल या धार्मिक स्थल भी हैं। इसलिये प्रदूषण मूल रूप से अप्रबंधित सीवेज, सीपेज और ठोस कचरे के कारण फैलता है जोकि बड़ी आबादी, औद्योगिक , कृषि रसायनों और  धार्मिक चढ़ावे से उत्सर्जित होता है। सूखे के महीनों में नदी में कम प्रवाह होता है और जलवायु परिवर्तन के दौरान यह स्थिति और विकट हो जाती है।
     उन्होंने अपने संबोधन में माँ गंगा के स्वरुप को अक्षुण बनाएं रखने के जितने भी आयाम हों, उन्हें दृष्टिगत रखते हुए प्रभावी कदम उठाये जाने नितांत आवश्यक है. हम अनेक बार सुनते रहे हैं कि पश्चिमी देशों की अनेक प्रदूषित नदियों को स्वच्छ कर, मूल स्वरुप में पुनः लाया गया है।  माँ गंगा हमारी आस्था और विश्वास का प्रतीक है। इसके संरक्षण और संवर्धन हेतु हमें सच्चे मन से प्रयास करने से पीछे नहीं हटना है।  संकल्प शक्ति दृढ होगी तो यह प्रयास अवश्य ही सफल होगा। और इस दिशा में सरकार द्वारा किए जा रहे प्रयास निश्चित रूप से गंगा की स्वच्छता के लिए सार्थक सिद्ध होंगे l
      केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने गंगा की स्वच्छता के लिए स्थानीय लोगों की भागीदारी सुनिश्चित करने का आग्रह किया साथ ही उन्होंने कहा है कि गंगा की स्वच्छता के लिए संकल्प लेकर इस अभियान को आगे बढ़ाना होगा l
     इस अवसर पर उच्च शिक्षा मंत्री डॉ धन सिंह रावत,  कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल,  नगर पालिका मुनी की रेती के अध्यक्ष रोशन रतूड़ी, सत्रुघन घाट मंदिर के महंत मनोज द्विवेदी राष्ट्रीय स्वच्छता गंगा मिशन के महानिदेशक राजीव नंदन मिश्र,  कार्यकारी निदेशक परियोजना अशोक कुमार, राजीव अग्रवाल,  प्रवीण कुमार,  विंग कमांडर परमवीर सिंह, श्रीमती नीलिमा गर्ग, के.के रस्तोगी,  प्रदीप भट्ट, तेजपाल सिंह नेगी  ए.के चतुर्वेदी, मनोज कुमार आदि सहित अनेक लोग उपस्थित थे l कार्यक्रम का संचालन सुनील दत्त थपलियाल ने किया l

Post A Comment: