अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश के प्लास्टिक चिकित्सा विभाग, स्माइल एशिया, मिशन स्माइल की ओर से चार नवंबर से तीन दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया जाएगा,जिसमें बच्चों व वयस्क लोगों के जन्मजात कटे होंठ व मुहं के अंदर कटे तालू का निशुल्क ऑपरेशन किया जाएगा। पीड़ित मरीज इसके लिए एम्स संस्थान में 2 नवंबर को अपना पंजीकरण और परीक्षण करा सकते हैं।                                                                                                                                                                                                             संस्थान के निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत ने बताया कि चार से छह नवंबर तक आयोजित होने वाली इस कार्यशाला में एम्स संस्थान के अलावा देश के बड़े मेडिकल संस्थानों व विदेश के विभिन्न मेडिकल संस्थानों के विशेषज्ञ चिकित्सक प्रतिभाग कर मरीजों की सर्जरी को अंजाम देंगे। इन विशेषज्ञ चिकित्सकों में कोलकाता की साउथ इस्टर्न रेलवे की चीफ प्लास्टिक सर्जन डा. अंजना मल्होत्रा, र​शिया के सर्जन डा.श्रीब्रोब टिकौन, एम्स से डा. देवरती चटोपाध्याय, मणीपाल कर्नाटक कस्तूरबा मेडिकल कॉलेज के एचओडी एनेस्थिसियोलॉजिस्ट डा. रामकुमार वैंकटेश्वरन, डा. जूही शर्मा,डा. संजय अग्रवाल, दिल्ली से डेंटिस्ट डा. नंदिता ग्रोवर, कर्नाटक से स्पीच थेरेपिस्ट डा. के. रामाप्रभु आदि विशेषज्ञ चिकित्सक शामिल हैं।                                         एम्स निदेशक पद्मश्री प्रो. रवि कांत ने बताया कि कार्यशाला में प्रतिभाग करने वाले मरीजों के लिए आवागमन, आवासीय एवं भोजन आदि सुविधाएं भी निशुल्क उपलब्ध कराई जाएंगी। एम्स के प्लास्टिक चिकित्सा विभागाध्यक्ष डा. विशाल मागो ने बताया कि  मिशन स्माइल संस्था की पहल पर आयोजित इस कार्यशाला में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान ऋषिकेश व स्माइल एशिया संस्था सहयोग कर रही है। उन्होंने बताया कि कार्यशाला के लिए मरीज को 2 नवंबर को मरीज को अपना मैनुअली पंजीकरण व परीक्षण के लिए एम्स संस्थान में आना होगा। चैकअप के बाद चिह्नित मरीजों की चार से छह नवंबर को कार्यशाला में सर्जरी की जाएगी। पीड़ित रोगी कार्यशाला में सर्जरी के लिए एम्स के प्लास्टिक चिकित्सा विभाग में दूरभाष नंबर 9897760295, 7900346520 पर संपर्क कर अपना पंजीकरण करा सकते हैं।

Post A Comment: