अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश में 16वीं उत्तराखंड स्टेट ऑप्थेलमिक सोसाइटी कांफ्रेंस उत्तरा आईकॉन- 2019 का शुक्रवार को शुभारंभ हो गया। तीन दिवसीय कांफ्रेंस के पहले दिन सर्जिकल वर्कशॉप का आयोजन किया गया,जिसमें वि​भिन्न मेडिकल संस्थानों से आए विशेषज्ञ चिकित्सकों ने आंखों से जुड़ी बीमारियों की लाइव सर्जरी की। इस अवसर पर एम्स निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत ने मरीजों के हित में ज्ञान के आदान-प्रदान के लिए इस तरह की कार्यशालाओं को नितांत आवश्यक बताया। निदेशक एम्स ने राज्यस्तरीय आयोजन के लिए सोसाइटी को प्रोत्साहित किया और कहा कि ऐसे आयोजनों से एक-दूसरे क्षेत्र के चिकित्सकों को विशेषज्ञों से नवीनतम तकनीकि से रूबरू होने का अवसर मिलता है।                                                                                                                                                                         एम्स नेत्र रोग विभाग की ओर से आयोजित वार्षिक कांफ्रेंस का डीन एकेडमिक प्रोफेसर मनोज गुप्ता व मेडिकल सुपरिटेंडेंट डा. ब्रह्मप्रकाश ने सर्जिकल वर्कशॉप का शुभारंभ किया। राज्यस्तरीय कांफ्रेंस के पहले दिन दिल्ली एम्स के प्रो. प्रदीप शर्मा ने भेंगापन के ग्रस्त रोगी की लाइव सर्जरी की। पीजीआई चंडीगढ़ केडा. एसएस पांडव ने ग्लूकोमा से ग्रसित मरीज की नई तकनीक वाल्व द्वारा सर्जरी की।                                                         इस अवसर पर मोतियाबिंद, ग्लूकोमा व भेंगापन से ग्रस्त नौ मरीजों की जटिल लाइव सर्जरी की गई। बताया गया कि उक्त मरीज लंबे अरसे से इन बीमारियों से पीड़ित थे। कांफ्रेंस के प्रथम दिवस आयोजित सर्जिकल वर्कशॉप में मरीजों की सर्जरी करने वाले अन्य विशेषज्ञ चिकित्सकों में प्रसिद्ध सर्जन व आई फाउंडेशन कोयंबटूर क चेयरमैन डा. डी. राममूर्ति, नई दिल्ली के डा. आरपी सिंह, निर्मल आश्रम अस्पताल की डा. मृणाल आदि शामिल हैं।                                                                                                                                                                                 कांफ्रेंस के आयोजक व एम्स नेत्र रोग विभागाध्यक्ष डा. संजीव कुमार मित्तल ने बताया कि उत्तराखंड स्टेट ऑप्थेलमिक सोसाइटी कांफ्रेंस उत्तरा आईकॉन-2019 का शनिवार को बतौर मुख्यअतिथि एम्स निदेशक पद्मश्री प्रो. रवि कांत विधिवत शुभारंभ करेंगे। जिसमें वि​भिन्न स्थानों से आए विशेषज्ञ व्याख्यानमाला के जरिए आंखों की वि​भिन्न बीमारियों से जुड़ी आधुनिक तकनीकियों पर व्याख्यान देंगे। आयोजन में डा. अजय अग्रवाल, सर्जिकल कार्यशाला के पर्यवेक्षक डा. अनुपम, डा. नीति गुप्ता,डा.रामानुज सामंत, डा.देवेश, डा.विनीता गुप्ता ने सहयोग किया।

Post A Comment: