अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश में 16वीं उत्तराखंड स्टेट ऑप्थेलमिक सोसाइटी कांफ्रेंस उत्तरा आईकॉन- 2019 का शनिवार को संस्थान के निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत ने विधिवत शुभारंभ किया। तीन दिवसीय कांफ्रेंस के दूसरे दिन देशभर से जुटे विशेषज्ञ चिकित्सकों ने विभिन्न विषयों पर व्याख्यानमाला प्रस्तुत की।                                                                                                                                                           इस अवसर पर एम्स निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत ने मनुष्य जीवन में दृष्टि का महत्व बताया। निदेशक एम्स ने अपने व्यक्तव्य में टाइम मैनेजमेंट पर जोर दिया और जीवन में इसकी भूमिका पर चर्चा की। उन्होंने कहा कि किसी भी घटना अथवा विषय के बारे में हमें अधिकाधिक जानकारियां लेने का प्रयास करना चाहिए, इससे हमारे ज्ञान में वृद्धि होती है।                                                                                                             एम्स निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत ने बताया कि प्रयागराज कुंभ में आयोजित किए गए नेत्र कुंभ में एम्स संस्थान ने 25 हजार मरीजों को सेवाएं दी और चश्मे वितरित किए। उन्होंने बताया कि नेत्र दान के प्र​ति लोगों को जागरुक करने के उद्देश्य से संस्थान में आई बैंक की स्थापना की जा चुकी है,जिससे अंधता से ग्रसित लोगों को लाभ मिलने लगा है।                                                                                                                                                   राज्यस्तरीय कांफ्रेंस के तहत दूसरे दिन पीजीआई चंडीगढ़ के डा. मंगतराम डोगरा ने समय से पहले होने वाले नवजात शिशुओं में दृष्टि दोष के परीक्षण व निदान के बारे में जानकारी दी। गुरुनानक आई सेंटर दिल्ली के डा. प्रमोद कुमार पांडेय ने भेंगापन विषय पर व्याख्यान दिया। डा. अतुल कुमार ने दृष्टिपटल के रोगों के आधुनिक परीक्षण तकनीक के बारे में व्याख्यान दिया।                                                                                                           उत्तराखंड नेत्र चिकित्सक संघ के अध्यक्ष डा. सुरजीत दास ने डा. जयदीप दत्ता को चिकित्सक संघ का नया अध्यक्ष घोषित किया। कार्यक्रम में डीन एकेडमिक प्रोफेसर मनोज गुप्ता, मेडिकल सुपरिटेंडेंट डा. ब्रह्मप्रकाश,                                                                                                                                                                                 कांफ्रेंस के आयोजक व एम्स नेत्र रोग विभागाध्यक्ष डा. संजीव कुमार मित्तल, डा. अजय अग्रवाल, सर्जिकल कार्यशाला के पर्यवेक्षक डा. अनुपम, डा. नीति गुप्ता ने सहयोग किया।

Post A Comment: