केदारघाटी में 2013 में आयी जलप्रलय में हजारों लोगों को अपनी जान गवानी पड़ी थी। इसकी एक वजह यह भी थी। इस आपदा में घायल हुए हजारों लोगों को समय पर केदारघाटी में चिकित्सा सुविधाएं नहीं मिल पाई थी। जिसके चलते कई लोगों को अपनी जान गवानी पड़ी थी। उस समय से कहा गया था कि केदारघाटी में एक अस्पताल का होना बहुत जरूरी है। क्योंकि केदारघाटी में बसे गांव के लोगों को भी आए दिन अपने स्वास्थ्य जांच और किसी आपत स्थिति में केदारघाटी से कई दूर इलाज के लिए जाना पड़ता है। इसी के साथ देश-विदेश के बाबा केदरार की दर्शन करने आने वाले हजारों भक्तों में से कई भक्तों को केदारनाथ धाम में हाइपोथर्मिया का शिकार हो जाना सामान्य बात है। धाम में ऑक्सीजन की कमी के साथ ही ठंड लगने से अक्सर यात्रियों को हार्ट अटैक आ जाता है।
 लेकिन बाबा केदार की यात्रा में आने वाले देश-विदेश के श्रद्धालुओं को अब धाम में ही बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध होंगी। यहीं नहीं, अब, अति संवेदनशील मामलों का भी मौके पर उचित उपचार हो सकेगा। यही नहीं केदारघाटी में बसे गांव के लोगों को भी अब केदारधाम बेहतर से बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं निःशुल्क उपलब्ध होंगी।
सोमवार को उत्तराखंड की राज्यपाल महामहिम बेबी रानी मौर्या,मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत,हंस फाउंडेशन के प्रेरणास्रोत माताश्री मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज,विश्व हिंदु परिषद के अंतर्राष्ट्रीय संगठन महामंत्री दिनेश जी एवं राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सह सर कार्यवाह डॉक्टर कृष्ण गोपाल जी की गरिमामयी उपस्थिति में श्री केदारनाथ बाबा की असीम अनुकंपा से स्वामी विवेकानंद हैल्थ मिशन सोसायटी के तत्ववाधान में केदारनाथ में अत्यआधुनिक धर्मार्थ चिकित्सालय का लोकार्पण किया गया है।
इस अत्यआधुनिक धर्मार्थ चिकित्सालय का उद्धघाटन करते हुए महामहिम राज्यपाल बेबी रानी मौर्या ने कहां कि आज के दिन बाबा केदरा के श्रीचरणों हम सब को नये जीवन के दर्शन हो रहे है। यहां आने वाले असंख्य बाबा केदार की भक्तों को स्वामी विवेकानंद हैल्थ मिशन सोसायटी  के सानिद्य में जो स्वास्थ्य की सुविधा मिल रही है। यह सही मयाने में सेवा का उत्तम पथ है। महामहिम राज्यपाल ने कहा के 12 बेड के इस अत्याधनिकि धर्मार्थ चिकित्साल में बाबा केदार आने वाले श्रद्धालुओं के लिए निःशुल्क स्वास्थ्य की सुविधाएं हर समय उपल्बध रहेंगी। महामहिम राज्यपाल ने कहां कि आज इस मौके पर हमारे साथ माता मगंला जी एवं श्री भोले जी महाराज जी भी मौजूद है। जो स्वास्थ्य-शिक्षा के क्षेत्र में निरंतर देश भर में सेवाएं दे रहे है। हंस फाउंडेशन के सानिद्धय में पौड़ी गढ़वाल के सतपुली में स्थापित हंस जरनल अस्पताल असंख्या लोगों को निःशुल्क स्वास्थय की सेवाएं दे रहा है। साथ ही स्वामी विवेकानंद हैल्थ मिशन सोसायटी के साथ मिलकर भी सेवाएं दे रहे है। यह हमारे राज्य के लिए सुखद है।

इस मौके मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहां की बाबा केदार के दरबार में आने वाले देश-विदेश के भक्तों के लिए स्वामी विवेकानंद हैल्थ मिशन सोसायटी ने जो सेवा प्रदान की है। इसके लिए हम कोटी-कोटी आभार व्यक्त करते है।
श्री त्रिवेंद्र् रावत ने कहा कि माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज जी और स्वामी विवेकानंद हैल्थ मिशन सोसायटी जिस तरह से राज्य में स्वास्थ्य की सेवाएं प्रदान कर रही है। इस देखते हुए मैं कह सकता हूं की इससे उत्तराखंड का मान-सम्मान दुनिया में बढ़ रहा है। आज केदार बाबा के दरबार में इस अत्यआधुनिक चिकित्सालय का लोकार्पण हुआ है। यह इसलिए भी महत्वपूर्ण हैं कि इस अस्पताल में केदार में किसी भी आपात स्थिति स्वास्थ्य की सुविधाएं मरीजों को प्रदना की जा सकेंगी। इस अस्पताल में हर आधुनिक सुविधा उपल्बध रहेगी। मैं एक बार फिर से स्वामी विवेकानंद हैल्थ मिशन सोसायटी को इस महत्वपूर्ण कार्य के लिए आभार प्रकट करता हूं।
 कार्यक्रम में विशेष तौर पर पहुंचे माताश्री मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज ने सभी अतिथियों का अभिवादन करते हुए स्वामी विवेकानंद हैल्थ मिशन सोसायटी को इस महत्वपूर्ण कार्य के लिए बधाई दी।
माताश्री मंगला जी ने इस मौके पर कहां कि हम बाबा केदार से प्रार्थना करते है कि उत्तराखंड के चारों धामों में आने वाले देश-विदेश के श्रद्धालुओं को कभी भी किसी भी तरह की दिक्कत न हों,सभी श्रद्धालु स्वस्थ्य होकर चारों धामों के दर्शन करें और अपने दुःखों को छोड़कर सुखों को उकेर कर अपने साथ लेकर जाए।
माता मंगला जी ने कहां कि आज बाबा केदार के धाम में स्वामी विवेकानंद हैल्थ मिशन सोसायटी ने सौजन्य से अत्यआधुनिक धर्मार्थ चिकित्सालय का लोकार्पण हुआ है। अक्सर सुनने में आता था कि बाबा केदार हाइपोथर्मिया का शिकार हो जाने,धाम में ऑक्सीजन की कमी के साथ ही ठंड लगने से अक्सर यात्रियों को हार्ट अटैक आ जाता है। लेकिन अब बाबा केदार के आशीष से इस धाम में अत्यआधुनिक धर्मार्थ चिकित्सालय खुल गया है। इसके माध्यम से अब यहां आने वाले यात्रियों बेहतर से बेहतर स्वास्थ्य की सुविधाएं मिलेगी। माताश्री मंगला जी ने कहां की भविष्य कभी भी इस अस्पताल को हमारी सेवाओं की आवश्यता होगी। हम हमेशा स्वामी विवेकानंद हैल्थ मिशन सोसायटी के साथ खड़े रहेगे।
 आपको बता दें कि इस अत्यआधुनिक चिकित्सालय के बनने से केदारघाटी के लोगों को बेहतर स्वास्थ्य की सुविधाएं तो मिलेगी ही साथ ही हर साल केदारबाबा के दर्शन करने आने वाले श्रद्धालुओं के किसी भी आपत काल में बेहतर से बेहतर स्वास्थ्य की सुविधा बाबा केदरा के दरबार में ही मिल जाया करेगी।
स्वामी विवेकानंद हैल्थ मिशन सोसायटी के तत्ववाधन में बाबा केदार के दरबार में स्थापित इस अत्यआधुनिक धर्मार्थ चिकित्सालय में पहले बार केदारनाथ धाम वेंटिलेटर सुविधा,आईसीयू, पैथोलॉजी लैब, एक्सरे,ऑक्सीजन,ईसीजी, ईसीएचओ,टीएमटी सहित अन्य जरूरी जांच भी निःशुल्क उपल्बध होगी। इसी के साथ इस चिकित्सालय में हमेश दो डाक्टर मौजूद रहेगें तो अपनी सेवाएं देने के लिए देश-विदेश से समय-समय डाक्टरों के टीम यहां आती रहेगी। जो केदार बाबा के दर्शन करने वाले भक्तों को निःशुक्ल अपनी सुविधाएं प्रदान करेंगे। यही नहीं इस अत्यआधुनिक धर्मार्थ चिकित्सालय में हर समय डाक्टर सहित 20 से 25 स्वास्थ कर्मी मौजूद रहेंगे। जो किसी भी आपद स्थिति में मरीजों को अपनी सुविधाएं प्रदान करने सक्षम होंगे।

Post A Comment: