ऋषिकेश अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान की ओर से राष्ट्रीय पोषण सप्ताह के तहत विभिन्न स्थानों पर जनजागरुकता कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। सप्ताहव्यापी कार्यक्रम के तहत रायवाला व बीरपुरखुर्द क्षेत्र में लोगों, विशेषकर स्कूल के बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया और फलदार पौधे रोपकर लोगों को स्वस्थ भोजन लेने व स्वस्थ जीवन शैली अपनाने को लेकर जागरुक किया गया।                                                                                                                               प्रति वर्ष एक से सात सितंबर तक राष्ट्रीय पोषण सप्ताह मनाया जाता है। इसके तहत एम्स के सामुदायिक और पारिवारिक चिकित्सा (सी.एफ.एम.) विभाग द्वारा आयोजित कार्यक्रम में संस्थान के निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत ने स्वस्थ जीवन के लिए स्वस्थ खानपान के साथ साथ स्वस्थ जीवनशैली अपनाने पर जोर दिया। उन्होंने एम.बी.बी.एस., एम.डी. व एम.पी.एच. के छात्र-छात्राओं से अपने भोजन का चुनाव सोच समझकर करने का संदेश दिया। निदेशक एम्स पद्मश्री प्रो. रवि कांत ने संदेश दिया कि हमें स्वाद की बजाए स्वास्थ्यवर्धक खाद्य सामग्री को अपनाना चाहिए व फिट रहने के लिए नियमित व्यायाम व योगाभ्यास करना चाहिए।                                                                                                                                                                                         संस्थान के सी.एफ.एम. विभाग की विभागाध्यक्ष प्रो. सुरेखा किशोर व अपर आचार्य डा. रंजीता कुमारी के मार्गदर्शन में राष्ट्रीय पोषण सप्ताह के तहत एमबीबीएस 2016 बैच के छात्रों ने एक परस्पर चर्चा सत्र के माध्यम से स्वस्थ खान- पान से संबंधित विषयों पर विचार- विमर्श किया। एमडी व एमपीएच के विद्यार्थियों एवं इंटर्नस ने राजकीय प्राथमिक विद्यालय बीरपुर खुर्द में बच्चों को स्वस्थ और पौष्टिक आहार के बारे में जागरुक किया। इस दौरान बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया और उन्हें एक रोमांचक सांप -सीढ़ी के खेल के माध्यम से स्वास्थ्य संबंधी खाद्य पदार्थों के चयन के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी दी। 
इस दौरान, बच्चों को स्वस्थ भोजन के प्रति जागरुक करने के लिए चित्रकला का आयोजन भी किया गया एवं फल वितरित किए गए। “स्वस्थ खाने के लिए, स्वस्थ उगाने” को प्रोत्साहित करने के लिए विद्यालय प्रांगण में फलदार पौधों का रोपण भी किया। दूसरी ओर सीएफएम विभाग की टीम ने रायवाला क्षेत्र में घर-घर पहुंचकर लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण किया व उन्हें स्वस्थ भोजन से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियां दी। इस अवसर पर टीम के सदस्यों ने लोगों के घरों में फलदार पौधों का रोपण भी किया। सप्ताहव्यापी कार्यक्रम में एमबीबीएस 2017 बैच के विद्यार्थी भी प्रतिभाग कर रहे हैं। डा. रंजीता ने बताया कि सप्ताह के तहत बृहस्पतिवार को एम्स परिसर में फलदार पौधों का रोपण, शुक्रवार को जूनियर हाईस्कूल में कक्षा छह से आठवीं तक के बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण व शनिवार को कृष्णानगर कॉलोनी में गर्भवती व धात्री महिलाओं का स्वास्थ्य परीक्षण किया जाएगा व उन्हें स्वस्थ खानपान को लेकर जागरुक किया जाएगा।

Post A Comment: