ऋषिकेश, धार्मिक स्थलों के विकास के लिए उनकी सरकार वचनबद्धःसुबोध
देहरादून। 29 सितंबर से नरेन्द्र नगर में आयोजित होने वाले  44वें सिद्धपीठ मां कुंजापुरी विकास पर्यटन की बैठक लेते हुए प्रदेश के कृषि मंत्री सुबोध उनियाल ने कहा कि देवभूमि उत्तराखण्ड के कण कण में भगवान किसी न किसी रूप में विराजमान है। उत्तराखण्डवासियों को यह स्वभिमान है कि उन्होंने हिन्दुओं की धार्मिक आस्था को बनाए और बचाए रखने का काम किया है। उन्होंने कहा कि मां कुंजापुरी सिद्धपीठ धार्मिक रूप से अपना एक अलग महत्व रखती है। यह टिहरी जिले की धार्मिक धरोहर नही बल्की पूरे उत्तराखण्डवासियों की धार्मिक आस्था का प्रतीक है। जिससे विश्वमानचित्र पर धार्मिक पर्यटन स्थल पर दर्शाने के लिए वे व उनकी सरकार बचनबद्ध है।
कृषिमंत्री सुबोध उनियाल ने कहा कि प्रदेश की त्रिवेन्द्र सरकार उत्तराखण्ड को धार्मिक पर्यटन के रूप में दुनियां में एक नई पहचान दिलाने के लिए वचनबद्ध है। इसके लिए प्रशासन के अलावा पर्यटन विभाग में सरकार ने कई योजनाएं बनाने का काम शुरू कर दिया है। इसके के तहत मां कुंजापुरी सिद्धपीठ को धार्मिक पर्यटन स्थल के रूप में विकासित करने के लिए सरकारी स्तर पर हर संभव कार्य किया जा रहा है।
 आयोजित बैठक में नगर पालिका अध्यक्ष राजेन्द्र विक्रम सिंह पंवार, जिलाधिकारी उपजिलाधिकारी पालिका के सभी सभासद आदि मौजूद थे। इस मेले के सफल आयोजन के लिए मंत्री सुबोध उनियाल ने सभी अधिकारियों की जिम्मेदारी तय  की।

Post A Comment: