अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश में वर्ल्ड पेसेंट सेफ्टी- डे के उपलक्ष्य में विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए गए।                                                                                                                                            एम्स ऋषिकेश में वर्ल्ड पेसेंट सेफ्टी- डे को लेकर आयोजित कार्यक्रम का संस्थान के निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत ने विधिवत शुभारंभ किया,जिसमें पेसेंट सेफ्टी चैंपियन चिह्नित कर उन्हें आई स्पीक फॉर पेसेंट सेफ्टी बैच वितरित किए गए। निदेशक एम्स ने जोर दिया कि पेसेंट की सुरक्षा को लेकर शतप्रतिशत प्रयास सुनिश्चित किए जाने चाहिंए। एम्स निदेशक पद्मश्री प्रो. रवि कांत ने कहा कि संस्थान में मरीजों की सुरक्षा व बेहतर उपचार की संस्कृति को विकसित करना ही सभी का लक्ष्य होना चाहिए,जिसके लिए मुहिम में चिकित्सक, नर्सिंग स्टाफ व अन्य को सहभागिता सुनिश्चित करने की जरुरत है। डीन एकेडमिक प्रो.मनोज गुप्ता ने मरीजों की सुरक्षा पर विशेष ध्यान दिए जाने की जरूरत बताई।                                                                                                                                                                                  अस्पताल प्रशासन की ओर से आयोजित कार्यशाला में फैकल्टी व नर्सिंग स्टाफ ने प्रतिभाग किया। डीन एलुमिनाई बीना रवि ने प्रतिभागियों को पेसेंट सेफ्टी के तकनीकी गुर सिखाए। एमएस डा.ब्रह्मप्रकाश ने डब्ल्यूएचओ द्वारा निर्धारित पेसेंट सेफ्टी के लक्ष्य बताए। इस अवसर पर व्याख्यानमाला में डा.पुनीत गुप्ता ने संक्रमण से सुरक्षा, डा.दलजीत कौर ने सुरक्षित रक्त का उपयोग संबंधी जानकारियां दी। डा.अनुभा अग्रवाल ने मरीज की सही पहचान, चिकित्सक व रोगी के बीच बेहतर संवाद,मरीज को गिरने से बचाव के उपाय, सुरक्षित शल्य चिकित्सा आदि से संबंधित एम्स संस्थान में की गई  व्यवस्थाओं के बारे में बताया।                                                                                                                                                                     डा. प्रेरणा बब्बर ने भविष्य में संस्थान में पेसेंट सेफ्टी से संबंधित किए जाने वाले उपायों की जानकारी दी। मरीजों की सुरक्षा विषय पर फार्माकोलॉजी विभाग द्वारा सुरक्षित औषधि विषय पर दो दिनी कार्यशाला आयोजित की गई,जिसमें राज्य के विभिन्न मेडिकल कॉलेजों के चिकित्सकों व विद्यार्थियों ने हिस्सा लिया। इसी श्रंखला में चिकित्सकों,नर्सिंग स्टाफ, सिक्योरिटी गार्ड्स, सफाईकर्मियों को आई स्पीक फॉर पेसेंट सेफ्टी बैच वितरित किए गए, मरीजों की सुरक्षा विषय पर पोस्टर प्रतियोगिता हुई,जिसमें नर्सिंग स्टूडेंट्स ने प्रतिभाग किया।                                                                                                                                  इस अवसर पर प्रो.किम मेमन, डा.श्रीपर्णा बासू, डा.जया चतुर्वेदी, उप चिकित्सा अधीक्षक डा. लता गोयल,डा. पूर्वी कुलश्रेष्ठा, अधीक्षण अभियंता सुलेमान अहमद, ईई एमपी सिंह आदि मौजूद थे।

Post A Comment: